सुबह जल्दी उठने से वजन घटाई और तनाव से मुक्ति पाई जा सकती है, स्वास्थ्य विशेषज्ञ

वेब डेस्क

लाइफ कोच और व्यक्तित्व बनाने के विशेषज्ञों का कहना है कि सुबह जल्दी उठने के बाद कुछ आदतों को  अपनाकर वजन घटाना, तनाव दूर करने और जीवन की कई सारी उपलब्धियां समेटना संभव तो है ही जब कि उस के साथ ही हमारे अनगिनत समस्याएँ  सुबह जल्दी उठने से खत्म हो सकते हैं।morning-2

विशेषज्ञों के अनुसार सुबह जल्दी उठना ‘चमत्कारी प्रक्रिया’ कहलाता है और पूरे जीवन पर इसके जबरदस्त प्रभाव पड़ता है क्योंकि इस तरह पूरा दिन सफल और सार्थक गुज़रता है और उद्देश्यपूर्ण जीवन को पहली सफलता यही है कि इंसान जल्दी जागृत हो जाए। लेकिन नींद से पहले सकारात्मक सोच अपनाना चाहिए  क्योंकि जब सुबह जाएगेंगे तो इस समय आपका दिल और दिमाग सकारात्मक ही सोचेगा।

सुबह उठने का सही समय:

विशेषज्ञों के अनुसार सुबह 5 बजे का समय उठने के लिए सबसे अच्छा है लेकिन सुबह 7 बजे उठ कर भी  कुछ कम लाभ प्राप्त किए जा सकते हैं। जिस समय आप उठना चाहते हैं उस के एक घंटा पहले का अलार्म लगाएं, अगर इस तरह रोजाना अलार्म लगा कर सोएंगे तब धीरे धीरे आप सुस्ताते सुस्ताते भी अपने निश्चित समय तक उठ जाने आदी हो जाएंगे । अलार्म अगर मोबाइल में या घड़ी में है तो उसे कमरे में खुद से ज़रा दूर किसी स्थान पर रखें। सुबह ब्रश के बाद एक दो गिलास पानी पी लें इससे फौरी तौर पर ऊर्जा प्रदान होगी।

अतिरिक्त समय का लाभ कैसे लें:

पूजा और ध्यान करें, सुबह के समय शांत वातावरण रहता है इसका फायदा उठाते हुए पूजा और ध्यान करें । 10 से 15 मिनट आराम और चुपचाप बैठ कर अपने आज के दिन को सफलता से जोड़िये, यह आपको मानसिक शांति देंगे, रक्तचाप सामान्य होगा और मानसिक गतिविधि बढ़ेगी।

6 मिनट में खुद को बदलें:morning-3

सफल लोगों को एक और अभ्यास करते हैं जो सुबह बहुत फायदेमंद होता है वह यह है।

पहला मिनट: अपने शरीर को आरामदायक स्थिति में लाएं, मन को शांत और खाली और तनाव को अपने सामने समाप्त कीजिए।

दूसरा मिनट: अपने लक्ष्यों की सूची बनाएं। इस विवरण में जाएं और उसे पूरा करने के लिए जो प्रक्रिया आवश्यक हैं उन्हें ज़रूर दोहराएँ।

तीसरा मिनट: आंख बंद करें और आज के उद्देशों पर सही शैली में ध्यान कीजिए। खुद को काम में मगन देखकर खुश हों। दिन भर की सुख की कल्पना कीजिए।

चौथा मिनट: आप के अंदर की जो अच्छी बातें हैं उन्हें लिखें। भगवान का धन्यवाद करें कि उस ने आप के अंदर इतनी सारी खूबियाँ दी है । उस के बाद आज के दिन हहर के अपने उद्देश्यों को लिखें और अंत में इसे मन में बसालें।

पांचवां मिनट: किसी आंदोलन और उत्साहित किताब का एक या पन्ना पढ़ें या उनके ऑडियो सुने। अपने अंदर मौजूद अधिक शक्तियों की खोज करें।

छठा मिनट: तुरंत उठकर 60 सेकंड में जितनी उठक बैठक कर सकते हैं वे करें क्योंकि इससे दिल ऊर्जा से भर जाएगा और संचार तेज होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: