MP: घर से निकलते ही कौओं का झुंड उस पर हमला कर देता है, अजीबोगरीब मामला 3 वर्षों से चल रहा है

शिवा केवट जैसे ही घर बाहर निकलता है वैसे ही उस पर टूट पड़ता है कौओं का झुंड, चोंच मार कर देता है घायल, यह सिलसिला 3 वर्षों से चला आ रहा है……ज़रूर पढ़िए आखिर माजरा किया है . 


शिवपुरी ( मध्य प्रदेश )

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के शिवपुरी (Shivpuri) जिले में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है. इस जिले में एक शख्स कौओं (Crows) से परेशान है. कौओं के चलते उसका घर से निकलना मुश्किल हो गया है. वह जब भी घर से निकलने की कोशिश करता है तो उसके ऊपर कौए टूट पड़ते हैं. कौए चोंच मार-मार कर उसकी हालत खराब कर देते हैं.

जानकारी के मुताबिक, पीड़ित व्यक्ति का नाम शिवा (Shiva) है. वह जिले के सुमेला गांव (Sumela Village) का निवासी है. उसे पिछले तीन साल से कौए परेशान कर रहे हैं. जब भी वह घर से बाहर निकलता है तो उसके सिर के ऊपर कौए मंडराने लगते हैं. उसे चोंच और पंजों से मारकर घायल कर देते हैं. कभी-कभी तो ये कौए शिवा के ऊपर झुंड में हमला कर देते हैं. शिवा की मानें तो उसके साथ हर रोज ऐसा होता है, चाहे वह जितनी बार भी घर से बाहर क्‍यों न निकले. ऐसे में वह जब भी बाहर निकलता है तो अपने साथ एक डंडा रखता है.

MP: घर से निकलते ही कौओं का झुंड उस पर हमला कर देता है

शिवा के शरीर पर इस ‘एकतरफा युद्ध’ के कई घाव हैं. इनमें से अधिकतर उनके सिर पर लगे हैं. शिवा इस बात से हैरान है कि कौए भी किसी से दुश्‍मनी रख सकते हैं और इंसानों के चेहरे याद रख सकते हैं. अमेरिका के यूनिवर्सिटी ऑफ वॉशिंगटन के शोधकर्ताओं का कहना है कि कौओं की याददाश्‍त बहुत तेज होती है और वे उन इंसानों की शक्‍ल याद रखते हैं, जिन्‍होंने उन्‍हें सताया हो.

दरअसल, तीन साल पहले शिवा ने लोहे की जाली में फंसे कौए के एक बच्‍चे को निकालने की कोशिश की थी. उस दौरान जाली में फंसने से कौए के बच्चे की मौत हो गई थी. तब से कौए उसके ऊपर हमला कर रहे हैं. वहीं, शिवा का कहना है कि वह तो उनकी मदद कर रहे थे पर कौओं को लगता है कि उसने ही उसके बच्चे को मारा है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: