चीनी कलाकार ने प्राचीन घाटी को बना दिया कला का नमूना

वेब डेस्क

एक चीनी कलाकार सूंग पाइलन को ‘बाबाए येलिंग घाटी’ ‘ के नाम से जाना जाता है क्योंकि पिछले 20 साल से वह इस घाटी के एक हिस्से को अपनी कला से बदल कर रख दिया है जो अब कला का नमूना बन चुका है I पईलन ने अपनी अनथक मेहनत से इस घाटी को  प्राचीन सभ्यता का रंग दे दिया है जो हजारों वर्ष पहले मौजूद थी।

chinese-art--3    chinese-art-2

तीसरी सदी ईसा पूर्व में येलिंग  एक प्राचीन सभ्यता का केंद्र था। विशेषज्ञों के अनुसार यहां से कई सभ्यताओं ने जन्म लिया था। पाइलन ने अमरीका में दक्षिण डकोटा में क्रीज हार्स नामक एक पेंटिंग को देखने के बाद न केवल इस घाटी की प्राचीन निर्माण और खंडहर को ठीक किया बल्कि पत्थरों से नयी मूर्तियाँ  भी बनाया ।

1996 में पाइन प्रोफेसर की नौकरी को अलविदा कहा और 2 लाख वर्ग मीटर जमीन ख़रीदकर वहाँ प्राचीन सभ्यता के अवशेष फिर से बनाना शुरू कर दिए। यहां मौजूद लोगों अधिकांश खनन और पत्थर तोड़ने का काम करते थे और पाइलन ने उनके साथ काम शुरू किया और लोगों ने रंगीन पत्थर बनाना शुरू कर दिए। पाइलन की मेहनत से अब यहां जगह जगह पत्थर की मूर्तियां हैं जिन्हें देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग यहाँ आते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: