बॉक्सर अंकुशिता बोडो ने जीता गोल्ड मेडल, बधाइयों का लगा तांता

 

गुवाहाटी 

असम की बॉक्सर अंकुशिता बोडो ने रविवार को गुवाहाटी में खेले गए युवा महिला विश्व चैम्पियनशिप-2017 में 64 किलोग्राम भार वर्ग की स्पर्धा के फ़ाइनल में रूस की डाइनिक एकाटेरिना को हराकर गोल्ड मेडल जीत लिया है. इतना ही नही इस चैम्पियनशिप में अंकुशिता बोडो ने सर्वश्रेष्ठ बॉक्सर का ख़िताब भी अपने नाम किया.

उस के बाद सोशल मीडिया में अंकुशिता को  दियी जाने वाले बधाइयों का बाढ़ सा आ गया, हर कोई उसे असम और देश का गौरव बता रहा था और बधाई दे रहा है. असम के स्वास्थ्य मंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर अन्कुशिता को बधाई दी, उसे असम का गर्व बताया और कहा की हम सब को उस पर गर्व है.

चैम्पियनशिप में भारत का अब तक का सबसे बेहतर प्रदर्शन रहा. अंकुशिता के अलावा नीतू ने 48 किलोग्राम वर्ग में, ज्योति ने 51 किलोग्राम वर्ग में, साक्षी ने 54 किलोग्राम वर्ग में और शशि चोपड़ा ने 57 किलोग्राम वर्ग में गोल्ड मेडल जीते. इस तरह भारत की झोली में कुल 5 गोल्ड मेडल आ गए हैं.

अन्कुशिता अपनी सफलता के इस सफ़र सब से बड़ा सहयोग मानती है अपने मातापिता का. अन्कुशिता के पिता एक निजी स्कूल में टीचर हैं, आर्थिक हालात अच्छे नहीं है, घर का खर्च मुश्किल से चलता है,  लेकिन उस के बावजूद नहों ने बॉक्सिंग से जुड़ी अन्कुशिता की जरूरतों को पूरा किया.

अंकुशिता वर्ष 2012 से बॉक्सिंग शुरू की थी. जब नया बॉक्सिंग फेडरेशन बना तो नई दिल्ली में खेले गए पहले युवा नेशनल चैम्पियनशिप में उस ने कांस्य पदक जीता था और यहीं से उसने अपनी सफलता की कहानी लिखना आरम्भ किया. हाल ही में बुल्गारिया में संपन्न हुए बाल्कन यूथ इंटरनेशनल बॉक्सिंग चैम्पियनशिप में भी उस ने सिल्वर मेडल जीता था. इसके अलावा वह, इस्तांबुल में आयोजित 31वें अंतरराष्ट्रीय इंटरनेशनल अहमेट कॉमर्ट बॉक्सिंग टूर्नामेंट में अंकुशिता भारत के लिए सिल्वर मेडल जीत चुकी हैं.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: