AJOOBA

एक मां जिस ने बेटे की याद में रेगिस्तान में उगाए लाखों पेड़

वेब डेस्क     

एक मां जिस ने बेटे की याद में रेगिस्तान में उगाए लाखों पेड़ , जी हाँ यह सच है I चीन की एक महिला ई जेइफेंग ने मंगोलिया के रेगिस्तान “आलाशान”  में अपने बेटे की याद में लाखों पेड़ उगा दी जो उसके बेटे की आख़री इच्छा थी।

16 साल पहले एक दुर्घटना में मारे गए अपने बेटे की याद में ई जेइफेंग ने अपने क्षेत्र को एक घने बगीचे में बदलना चाहती थीI इसके लिए वह वर्ष 2000 से काम कर रही हैं। दरअसल महिला का इकलौता बेटा पर्यावरण, प्रकृति और वन्य जीवन से विशेष रुचि रखता था और वह चीन के उत्तर में मंगोलिया के रेगिस्तान “आलाशान” में बहुत सारे पेड़ लगाकर बढ़ते रेगिस्तान को रोकना चाहता था।

yi-Jiefeng-2

बेटे के मरने के बाद ई जेइफेंग और उसके पति को बीमे में 2 करोड़ 70 लाख रुपये की राशि मिली जिससे उस ने ग्रीन लाइफ फाउंडेशन नान की संस्था की स्थापना की। खेती की जानकारी न होने के बावजूद उन्होंने काम शुरू किया और पहले 2 साल उन्हें गंभीर विफलता हुई तेज हवाओं ने नन्हे पौधे उखाड़ कर फेंक दिएI बारिश की कमी से सैकड़ों पौधे सूख गए I बावजूद इसके उन्होंने हिम्मत नहीं हरी और स्थानीय वन विशेषज्ञ को साथ मिलाकर पुनः कोशिश कीI आखिर कर उन्हें सफलता मिली और अब उन के लगाए हुए 85 प्रतिशत पेड़ जिंदा रहकर फलने फूलने लगे हैं।

yi-Jiefeng-3

इसके बाद यह परियोजना मशहूर होता गया और पूरे चीन में जनता को रेगिस्तान में वृक्ष लगाने और पर्यावरण के बारे में जागरूकता प्रदान करने का एक महत्वपूर्ण स्रोत बन गयाI

लेकिन जल्द ही राशि खर्च हो गईI दोनों पति-पत्नी ने अपने 2 मकान बेच कर इस काम को जारी रखा। 2008 में ऐसे ही कुछ माता पिता सामने आए जिनके बच्चे बीमारी या दुर्घटना में मारे गए थे और उन्होंने पैसा जमा करना शुरू कर दी जिसके बाद पेड़ लगाने का सिलसिला शुरू हो गया और अब मंगोलिया के इस रेगिस्तान में में लाखों पेड़ लगाए जा चुके हैं।

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close