इंडोनेशिया में सूनामी का कहर , 62 की मौत,  600 घायल

इंडोनेशिया में एक बार फिर सूनामी ने कहर बरपाया है जिस में अब तक 62 लोगों के मारे जाने और 600 से अधिक लोगों की घायल होने की खबर है.


न्यूज़ डेस्क

इंडोनेशिया में एक बार फिर सूनामी ने कहर बरपाया है. खबरों  के अनुसार इंडोनेशिया के जावा और सुमात्रा में आयी सूनामी के कारण कई समुद्री तटों के पानी से बड़े पैमाने पर तबाही हुयी है. अधिकारियों का कहना है कि इस में कम से कम 62 लोग मारे गये हैं, 600 लोग घायल हुए हैं जब की  कई लोग लापता हैं.

सूनामी से प्रभावित इलाक़ों में आपातकालीन सेवाएं पहुंचाने की कोशिश की जा रही है. इंडोनेशिया के सुंडा स्ट्रैट (खाड़ी) के आसपास के तटीय इलाक़ों में दर्जनों लोग मारे गये है. देश की आपदा प्रबंधन एजेंसी का कहना है कि दर्जनों इमारतों को नुकसान पहुंचा है.

इंडोनेशिया में सूनामी का कहर , 62 की मौत,  600 घायल

अनुमान लगाया जा रहा है कि क्रेकाटोआ ज्वालामुखी के फटने के बाद समुद्र के भीतर हुए भूस्खलन की वजह से सूनामी आयी.  जानकारी दी गयी है कि सबसे ज़्यादा मौतें पंडेग्लांग, दक्षिणी लांपुंग और सेरांग इलाक़ों में हुई हैं. इस संबंध में आपदा प्रबंधन एजेंसियों का कहना है कि मरने वालों की संख्या और बढ़ सकती है.

इंडोनेशिया में सूनामी का कहर , 62 की मौत,  600 घायल

इंडोनेशिया की आपदा एजेंसी के प्रवक्ता सुतोपो पुर्वो नुगरोहो के एक पोस्ट में पोस्ट दिख रहा है कि सड़क पर पानी भरा हुआ है गाड़ियां पानी के साथ बह गयी.  इससे पहले इन्होंने फुटेज पोस्ट किया था कि पानी लोगों के घरों तक पहुंच गया है और लोग भागने की तैयारी कर रहे हैं.

इंडोनेशिया में सूनामी का कहर , 62 की मौत,  600 घायल

सूनामी के समय नॉर्वे के ज्वालामुखी फ़ोटोग्राफ़र ओयेस्टइन लुंद एंडरसन पश्चिमी जावा के अनयेर तट पर मौजूद थे. उनका कहना है, मैं बीच पर था. मैं अकेला था और मेरे परिवार के लोग एक कमरे में सो रहे थे. मैं क्रेकाटोआ ज्वालामुखी की तस्वीरें लेने की कोशिश कर रहा था. कल शाम से ज्वालामुखी का माहौल बन रहा था. तटों पर ऐसा कुछ नहीं लगा रहा था कि सूनामी आएगी. तटों पर अंधेरा था. मैंने अचानक देखा कि तरंगे उठने लगीं और वहां से भागा. यहां दो तरंगें थीं. पहली तरंग बहुत मज़बूत नहीं थी. मैं होटेल की तरफ़ भागा, जहां मेरी पत्नी और बेटे सो रहे थे. मैंने उन्हें जगाया और मैंने सूनामी की आवाज़ सुनी. मैंने खिड़की से देखा तो दूसरी तरंग टकरा चुकी थी. वो ज़्यादा बड़ी थी. तरंग होटल के पास से गुज़री और बाहर खड़ी कारों को अपने साथ लेती गयी. हमलोग अन्य लोगों के साथ होटल के दूसरी तरफ़ ऊंचे स्थान की ओर भागे. हमलोग अब भी एक पहाड़ पर हैं.

इंडोनेशिया में सूनामी का कहर , 62 की मौत,  600 घायल

आपको बता दें कि इससे पहले सितंबर में इंडोनेशिया के सुलावेसी द्वीप में आए ताकतवर भूकंप और इससे पैदा हुई सुनामी की चपेट में आने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 832 हो गई थी। यहां 1.5 मीटर ऊंची लहरें उठी थीं और पानी द्वीप के अंदर घुस गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: