NATIONAL

चीन ने फिर दी भारत को धमकी, चीन के विदेश मंत्री वांग यी भी आये सामने

manzar alamगंगटोक

By Manzar Alam, Founder Editor, nesamachar.in,   Former Bureau Chief ( northeast), Zee News

एनएसए अजित डोभाल

सिक्किम सीमा के पास डोक्लाम इलाके में भारत-चीन के बीच गतिरोध जारी है I इसी बीच चीन ने एक बार फिर धमकी दी हैI इस बार चीन के विदेश मंत्री वांग यी भी सामने आ गए हैं I इन्टरनेट पर आ रही ख़बरों के अनुसार चीनी अखबार  ग्लोबल टाइम्स ने मंगलवार को  अपने एडिटोरियल में लिखा है कि भारत को अपनी सेना हटानी ही होगी और तभी कोई बातचीत संभव है I

अखबार  के अनुसार मंगलवार को चीन ने स्पष्ट कर दिया कि भारत के एनएसए अजित डोभाल से डोकलाम मुद्दे पर कोई बात नहीं होगा। बता दें कि एनएसए अजित डोभाल 27 जुलाई को ब्रिक्स बैठक में हिस्सा लेने के लिए बीजिंग जा रहे हैं।

उधर चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने मंगलवार को कहा है कि सीमा पर हालिया विवाद के लिए भारत जिम्मेदार है। चीनी विदेश मंत्री ने भारतीय सैनिकों से डोकलाम खाली करने को कहा। डोकलाम पर चीन अपना दावा करता है। ऐसा पहली बार है, जब चीन सरकार के किसी शीर्ष अधिकारी ने सिक्किम सेक्टर में सीमा विवाद पर प्रतिक्रिया दी है। जहां दोनों देशों की सेनाओं के बीच पिछले एक महीने से अधिक अवधि से गतिरोध बना हुआ है।

चीन के विदेश मंत्री वांग यी

पिछले महीने भारतीय सैनिकों द्वारा तिब्बत के सबसे दक्षिणी इलाके में चीन द्वारा सड़क निर्माण को रोके जाने के बाद यह विवाद सामने आया था। भूटान इस क्षेत्र पर अपना दावा करता है और उसके साथ सुरक्षा संधि होने के नाते भारत ने इसमें दखल दिया है। पिछले हफ्ते राज्यसभा में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा था कि डोकलाम इलाके में चीन अपने हिसाब से स्थिति को बदलना चाहता है। उन्होंने यह भी कहा था कि भारत तभी अपनी सेना हटाएगा, जब चीन भी अपनी सेना वापस बुला लेता है। उधर, चीन भारत पर एकतरफा सेना वापसी का दबाव बनाने के लिए आक्रामक बयानबाजी कर रहा है। सोमवार को चीनी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता वू कीआन ने कहा था, ‘पहाड़ को हिलाना आसान है, लेकिन चीनी सेना को नहीं।’

रिपोर्ट के मुताबिक राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल की चीन यात्रा के दौरान इस मुद्दे पर चर्चा होने की उम्मीद है वे 27-28 जुलाई को ब्रिक्स देशों के एनएसए सम्मेलन में शामिल होने के लिए बीजिंग जा रहे हैं। ब्रिक्स देशों में ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका शामिल हैंI अब सबी की नज़रें अजित डोभाल की यात्रा पर टिकी है I

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close