असम- कोकराझाड़ रेल स्टेशन पर आदिवासी जातीय महासभा का धरना, रेल यातायात रहा ठप

 

कोकराझाड़

आदिवासी जातीय महासभा के हजारों समर्थकों ने मंगलवार को असम के कोकराझाड़ रेल स्टेशन पर अपनी विभिन्न मांगों के समर्थन में सुबह 6 बजे से 1 बजे दोपहर तक सात घंटे का  धरना दिया I रेलवे ट्रैक पर धरना के दौरान आदिवासी जातीय महासभा के कार्यकर्ता रेलवे लाईन पर अपने हाथ में बैनर, समेत अपनों मांगों को लेकर सरकार के विरुद्ध नारेबाजी की, जिस से रेल यता यात ठप रहा I

इस मौके पर संवाददाताओं से बातचीत करते हुए आदिवासी जातीय महासभा के अध्यक्ष बिरसिंग  मुंडा ने कहा कि सभी राजनैतिक पार्टियां आदिवासियों को धोखा देती आ रहीं है । जब चुनाव आता है तो हर पार्टी हमसे वादा करती है कि सत्ता में आने के बद आदिवासियों को समस्या का समाधान कर देगें, मगर सत्ता मिलते ही सब कुछ भुला दिया जाता है I

केंद्र तथा राज्य की भाजपा सरकार पर आरोप लगाते हुए मुंडा ने कहा कि बहुत आशा के साथ हमने भाजपा को अपना पुर्ण समर्थन दिया था कि भाजपा की सरकार आने के वाद असम के आदिवासियों की समस्या का समाधान होगा। लेकिन केद्र तथा राज्य की सत्ता में अपने के बाद नरेन्द्र मोदी को सरकार हमारी समस्या को भूल गयी I

बीरसिह मुंडा ने भाजपा और कांग्रेस दोनों  की आलोचना करते हुए कहा कि हमने 2014 और 2016 में भाजपा को इसलिए अपना पुर्ण समर्थन दिया कि कांग्रेस ने पिछले 50 वर्षों तक शासन के नाम पर हमारा शोषण कियाI  लेकिन अगर भाजपा की सरकार 2019 से पहले हमारी  समस्या का समाधान नहीं करती है तो 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में हम भाजपा को सही जवाब देंगे।

उधर एनएफ़आर  के प्रवक्ता एन. भट्टाचार्जी  ने कहा कि रेल यातायात बाधित करने की वजह से डिब्रूगढ़ टाउन- नईं दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस समेत 18 ट्रेनों की आवाजाही प्रभावित हुई है अन्य ट्रेनों में गुवाहाटी-आनंद विहार टर्मिंनल नॉर्थ ईस्ट एक्सप्रेस और गांधीधाम-गुवाहाटी कामख्या एक्सप्रेस शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: