GUWAHATI

CAB के विरोध में जानू बरुआ ने  असम फिल्म महोत्सव से ‘भोगा खिड़की’ वापस ली

पद्मभूषण से सम्मानित बरुआ ने कहा कि सिर्फ सत्ता की राजनीति के लिए नेता अपनी ‘‘मातृभूमि की इज्जत को तार-तार कर रहे हैं।’’

गुवाहाटी

राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता फिल्म निर्माता जानू बरुआ ने नागरिकता संशोधन विधेयक (CAB) के विरोध में अपनी फिल्म ‘भोगा खिड़की’ (टूटी खिड़की) को असम फिल्म महोत्सव ( Assam Film Festival ) से वापस ले लिया। असमी भाषा में बनी इस फिल्म का निर्माण बॉलीवुड अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा के बैनर ने किया है।

असम और पूर्वोत्तर क्षेत्रों में जारी अशांति पर रोष जताते हुए पद्मभूषण से सम्मानित बरुआ ने कहा कि सिर्फ सत्ता की राजनीति के लिए नेता अपनी ‘‘मातृभूमि की इज्जत को तार-तार कर रहे हैं।’’

बरुआ ने पीटीआई… को बताया, ‘‘विधेयक को लेकर मौजूदा हालात से मैं बहुत दुखी हूं। यह विधेयक नहीं आना चाहिए था। हम नेतृत्व में विश्वास रखते हैं, लेकिन वे हमें समझने का प्रयास नहीं कर रहे हैं। ऐसे हालात में, मैं ऐसे किसी कार्यक्रम में भाग नहीं लेना चाहता।’’

आठवां असम राज्य फिल्म पुरस्कार और फिल्म महोत्सव, 2019 गुवाहाटी में 26-27 दिसंबर को आयोजित होना है।

बरूआ ने कहा कि उन्होंने हमेशा ही इस विवादित विधेयक का विरोध किया है, फिल्म निर्देशक ने कहा कि अगर कैब लागू किया गया तो 50-100 साल के बाद असमी भाषा का अस्तित्व ही नहीं रहेगा। गौरतलब है कि सोमवार को लोकसभा ने नागरिकता संशोधन विधेयक को पारित कर दिया।

उन्होंने कहा, ‘‘असमी समुदाय भाषा आधारित है। सभी धर्मों के लोग हैं और हम चाहते हैं कि यह ऐसा ही रहे। भाषा हमारे लिए सबकुछ है। अगर हम उसे खो देंगे तो फिर क्या होगा? कलाकार होने के नाते, मैं साफ-साफ देख सकता हूं कि क्या होने वाला है।’’

Source-PTI

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close