अरुणाचल प्रदेश में बेजुबान जानवरों का शिकार की परम्परा- वीडयो हुआ वायरल

न्यूज़ डेस्क 

अरुणाचल प्रदेश के आदि समुदाय द्वारा जानवरों के शिकार किए जाने का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। इस वीडियो को अरुणाचल के ऊपरी सियांग जिले के शिमोंग गांव में शूट किया गया हैI विडियो में मारे गए जानवरों को देखते हुए लोग दिखाई  दे रहे हैंI वीडियो में हम देख सकते हैं कि जंगली जानवरों और पक्षियों को खरीदा और बेचा जा रहा है।

बता दें की जानवरों को मारने  कि यह परम्परा “उनींग अरान उत्सव ” का एक हिस्सा है। “उनींग अरान उत्सव ” मूल रूप से एक ” शिकार उत्सव ( हंटिंग फेस्टिवल)  है जिसे यहाँ के ह आदि ट्राईब द्वारा ‘नए साल’ का पहला त्योहार के रूप में मनाया जाता है । त्योहार के दौरान, स्थानीय लोग सामुदायिक दावत के लिए जानवरों का शिकार करते हैं और शिकार किये गये जानवरों को बाज़ार में बेचते भी हैं।

Watch Video

 

वीडियो में दिखाई देने वाले कुछ जानवरों में चूहे, सिवेट, मन्गूज़ , भौंकने वाले हिरण, उड़ने वाली गिलहरी, खलीज तीतर और लाल तीतर शामिल हैं। संयोग से, तीतर और उड़ने वाली गिलहरियाँ लुप्तप्राय प्रजातियाँ हैं, जो  केवल अंडमान और निकोबार और अरुणाचल प्रदेश में ही पाए जाते हैं।

सोशल मीडिया में विडियो वायरल होने के बाद लोग जानवरों के इस शिकार की परम्परा का विरोध भी कर रहे हैं . लोगों का कहना है कि अगर यह एक परंपरा या संस्कृति है, तो इस पर  जल्द से जल्द रोक लगाना चाहिए  चाहिए। परंपरा के नाम पर, हम अनमोल वन्य प्राणियों का विनाश नहीं कर सकते।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: