नागरिकता विधेयक के विरोध में मणिपुर में हिंसा, कर्फ्यू , इंटरनेट और मोबाइल सेवाएं ठप

दो जिलों में सड़कें वीरान नजर हैं, बाज़ार, कार्यालय, स्कूल सभी बंद हैं. सड़कों पर केवल सुरक्षा बल और उनकी वाहने नज़र आ रहे हैं.


इंफाल

मणिपुर में नागरिकता विधेयक के खिलाफ लगातार हो रहे प्रदर्शनों के मद्देनजर इंफाल पूर्वी और इंफाल पश्चिमी जिलों में कर्फ्यू लागू  कर दी गयी है. उस एक अलावा मोबाइल और  इंटरनेट सेवाएं भी अनिश्चित काल के लिए निलंबित कर दी गई हैं.

दोनों जिलों में सड़कें वीरान नजर हैं , बाज़ार , कार्यालय, स्कूल सभी बंद हैं. सड़कों पर केवल सुरक्षा बल और उनकी वाहने नज़र आ रहे हैं.

बता दें कि पूर्वोत्तर में इस विधेयक का बड़े पैमाने पर विरोध हो रहा है. भाजपा के कई सहयोगी दलों ने भी इस विधेयक का विरोध किया है.  बीते आठ जनवरी को लोकसभा में इस विधेयक को पारित किया गया था.

इस विधेयक में पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश के धार्मिक अल्पसंख्यकों को भारतीय नागरिकता प्रदान किए जाने का प्रावधान है.

पूर्वोत्तर क्षेत्र के जनजातीय समुदाय के लोगों को डर है कि यह विधेयक कानून में तब्दील हो जाने के बाद क्षेत्र की जनांकिकी पर नकारात्मक असर पड़ेगा और उनकी पहचान एवं जिंदगी खतरे में पड़ जाएगी.

इस बीच, जिरीबाम जिले में नागरिकता विधेयक के विरोध में बुलाया गया 36 घंटे का बंद अभी भी जारी है जिससे सोमवार की सुबह पांच बजे से ही आम जनजीवन प्रभावित है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: