असम: भारत ने 21 बांग्लादेशियों को उनके देश लौटा दिया

भारत ने असम में अवैध तरीके से रह रहे 21 बांग्लादेशियों को शनिवार को उनके देश लौटा दिया। इनमें 19 पुरुष एवं दो महिलाएं हैं।


करीमगंज

भारत ने असम में अवैध तरीके से रह रहे 21 बांग्लादेशियों को शनिवार को उनके देश लौटा दिया। असम के करीमगंज जिले के सुतारकंडी में बांग्लादेश से सटी सीमा पर इन बांग्लादेशियों को पूरी कानूनी प्रक्रिया के अनुसार वापस भेजा गया। इनमें 19 पुरुष एवं दो महिलाएं हैं।

बांग्लादेश से अवैध तरीके से घुसपैठ करने वाले ये बांग्लादेशी नागरिक समय-समय पर असम और मेघालय के अलग-अलग हिस्सों में रहे।  इन सभी को पूर्व में गिरफ्तार करने के बाद सिल्चर स्थित शिविर में रखा गया था। ये लोग वहां पिछले 2-4 साल से थे। इन लोगों को देश से वापस भेजे की प्रक्रिया के दौरान केंद्रीय गृहमंत्रालय, असम  सरकार, असम पुलिस और बांग्लादेश बार्डर गार्ड के अधिकारी मौजूद थे।

अवैध नागरिकों की न्यायालय द्वारा निर्धारित सजा की अवधि समाप्त होने के बाद प्रशासन कानूनी औपचारिकताएं पूरी करने में लगा रहा। उसके पश्चात उन्हें बांग्लादेश सरकार को सौंपने की प्रक्रिया पूरी कर शनिवार की दोपहर सभी को बांग्लादेश प्रशासन को सौंप दिया गया।

असम: भारत ने 21 बांग्लादेशियों को उनके देश लौटा दिया

सभी अवैध नागरिकों को सिलचर से डिटेंशन कैंप से करीमगंज जिले के सुतारकांदी स्थित अंतरराष्ट्रीय चेकपोस्ट पर लाया गया। वहां से उन्हें बांग्लादेश को सौंप दिया गया। इन सभी नागरिकों ने अलग-अलग समय में भारतीय सीमा में घुसपैठ किया था।

बांग्लादेश भेजे गए नागरिकों की पहचान मोहम्मद नसीर हुसैन, मोहम्मद अब्दुल वाहिद, मोहम्मद खैरूल, मुस्सत जाहिदा बेगम, मुस्सत सूफिया बेगम, मिहिर पेबेल मियां, मोहम्मद शफीकुल इस्लाम, मोहम्मद सावेल अहमद, मोहम्मद रमजान अली, मोहम्मद बबलू अहमद, मोहम्मद सुमन फकीर, मोहम्मद मासूम अहमद, मोहम्मद नाजिम उद्दीन, अशरफुल इस्लाम चौधरी, लिटुन कांति दास, मोहम्मद तौफीक अली, मोहम्मद राजू अहमद, दिलवर हुसैन, मोहम्मद सुकुर, मोहम्मद शमीम अहमद, मोहम्मद रूबेल अहमद के रूप में की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: