NORTHEAST

राज्य अतिथि गृह में बदलेगा अरुणाचल के मुख्यमंत्री का आधिकारिक बंगला

ईटानगर

अरुणाचल प्रदेश सरकार शीघ्र ही मुख्यमंत्री के आधिकारिक बंगले को राज्य अतिथि गृह में बदलने जा रही है| यह बँगला राज्य की राजधानी ईटानगर के नीति विहार इलाके में स्थित है| पिछले साल इसी बंगले में प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कलिखो पुल ने आत्महत्या कर ली थी, जिसके बाद इसे अभिशप्त बँगला कहा जाने लगा|

पुल की आत्महत्या की घटना के ठीक दो महीने बाद बंगले का एक कर्मचारी भी वहीँ बगल के एक कमरे में छत से लटका हुआ पाया गया| इससे पहले भी मुख्यमंत्री के इस आधिकारिक बंगले में रह चुके प्रदेश के दो मुख्यमंत्री दोर्जी खांडू और जारबोम गामलिन भी असामयिक मौत के शिकार हो चुके है|

इसे भी पढ़ें- क्या है अरुणाचल के सीएम बंगले और वास्तु का रहस्य ?

प्रदेश के उपमुख्यमंत्री चावना मेन ने अब इस बंगले को राज्य अतिथि गृह में बदलने की जानकारी दी है| उन्होंने कहा कि इस संबंध में फैसला किया जा चुका है| जल्द ही जरुरी मरम्मत का काम भी कराया जाएगा ताकि अतिथि गृह तीन-चार महीने में शुरू किया जा सके| मेन ने कहा कि चूँकि लोग इसे भूत बँगला मानते है इसलिए आशंकाओं और संदेहों को दूर कर्ण के लिए सरकार कुछ अनुष्ठान भी करवाएगी|

नबाम टूकी के कार्यकाल में ही गुवाहाटी के एक वास्तु विशेषज्ञ ने बंगले का निरिक्षण कर इसकी संरचना में दोष बताया था और जलस्रोत को मौजूदा दक्षिण-पश्चिम स्थान से हटाकर उत्तर-पूर्व करने सहित कुछ बदलावों का सुझाव दिया था| लेकिन उस समय वास्तु विशेषज्ञ की बात पर ख़ास ध्यान नहीं दिया गया| हालांकि एक के बाद एक हादसों ने अब सरकार को इस बारे में सोचने पर मजबूर कर दिया है|

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close