अगप भाजपा से नाराज, करार तोड़ने का आरोप  

गुवाहाटी

निगम-निकाय के पदों को लेकर निकली सूची के बाद सहयोगी दल अगप भाजपा से नाराज है और करार तोड़ने का आरोप लगा रही है| एक तरफ इस सूची से जहाँ अगप और बीपीएफ में नाराजगी है वहीँ भाजपा खेमे में भी मिलीजुली प्रतिक्रिया है| वही कुछ लोगों ने अगली सूची तक इंतजार करने का फैसला लिया है| पार्टी नेताओं के अनुसार 12 मार्च तक 10 से 11 पदों के लिए दूसरी सूची जारी होगी|

निगम-निकायों के अध्यक्ष-उपाध्यक्षों की सूची से नाराज अगप नेता कमला कलिता ने पद ग्रहण करने न करने का फैसला अपनी पार्टी पर छोड़ दिया है| पार्टी ने भाजपा पर समझौता भंग करने का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल से सूची पर पुनर्विचार करने की अपील की है|

सूची को लेकर पार्टी नेताओं में भारी असंतोष है| उनका कहना है कि कई नए लोगों को बड़े पद दे दिए गए हैं, वहीँ कुछ लोग जो लंबे समय से पार्टी की सेवा कर रहे हैं उन्हें नजरअंदाज कर दिया गया है| तो कुछ लोग ऐसे है जो उपाध्यक्ष का पद मिलने से नाराज हैं और ये पद ग्रहण करने से इनकार कर सकते हैं| ये नेता सरकारी अधिसूचना जारी होने का इंतजार कर रहे हैं|

पहले दौर की बताई जा रही सूची में कुल 23 अध्यक्षों और 18 उपाध्यक्षों की घोषणा की गई है| अगप के कमला कलिता को खादी ग्रामोद्योग बोर्ड का अध्यक्ष बनाया गया है| उनके अलावा तीन और अगप नेताओं को सूची में शामिल किया गया है| कलिता के मुताबिक निगम-निकायों की नियुक्तियों में समानुपातिक दृष्टिकोण नहीं अपनाया गया| सूची जारी करने के पहले मित्र दल के नाते अगप नेतृत्व से बात तक नहीं की गई| जबकि इस बारे में अगप नेतृत्व की ओर से पहले ही सुझाव दिए जा चुके थे| उन पर भाजपा नेतृत्व ने कोई ध्यान नहीं दिया|

उन्होंने कहा कि यह भाजपा की ओर से समझौते को तोड़ना ही है| अब यह फैसला अगप नेतृत्व को करना है कि पार्टी के जिन चार लोगों को जगह दी गई है, वे पद ग्रहण करें या नहीं|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: