जानिए कौन है सिक्किम का ” गंगटोक ब्यूटीफायर “

गंगटोक

पूर्वोत्तर का छोटा सा राज्य “सिक्किम” कई मामलों में बड़े बड़े राज्यों को पीछे छोड़ चुका है और अब राजधानी गंगटोक की 24 घंटे साफ़ सफाई के लिए कमर कस चुका है ताकि यहाँ आने वाले पर्यटकों के समक्ष सिक्किम की अच्छी छवी पेश की जा सके.

राजधानी को साफ़ सुथरा रखने के उद्देश्य से गंगटोक म्युन्सिपल कार्पोरेशन के कुल 17 वार्ड में कुल 122 कर्मचारियों की तैनाती की गई है. यह सफाई कर्मी दिन रात 24 घंटे शहर में सफाई कार्य का जायजा लेने के साथ ही सफाई सुनिश्चित भी करेंगे.

गंगटोक म्युन्सिपल कार्पोरेशन की ओर से इन कर्मचारियों के देख रेख में चलने वाली सफाई व्यवस्था को अंग्रेजी में ‘गंगटोक ब्यूटिफायर’ के तौर पर जान जाएगा. यह सफाई कर्मचारी सभी प्रकार के सुविधा उपकरणों से लैस हैं जिनमें जूते, जैकेट, रेन कोट तथा दस्ताने आदि प्रदान किए गएअदि शामिल हैं. केवल इतना ही नहीं, इन सफाई कर्मियों को दी गयी समाग्रियों की गुणवत्ता भी समय समय पर जांची जाती है.

     

इस बाबत बातचीत करते हुए नगर प्रमुख मेयर ने कहा कि गंगटोक को स्वच्छता क्षेत्र मे विभिन्न निकायों द्वारा कई पुरस्कार दिए गए हैं. खुले में शौच से मुक्ति पर राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता मिली है. और इन सभी उपलब्धियों का श्रेय शहर के सफाई कर्मियों को दिया गया है.

इस के अलावा इन कर्मियों को तथा उनके परिवारों को जीएमसी की ओर से स्वास्थ्य बीमा भी प्रदान किया गया है. सभी सफाई कर्मचारियों को प्रतिमाह जीएमसी की ओर से 9 हजार वेतन तथा एपीएफ व रिक्त अलाउंस भी दिया जाता है.  सुरक्षा के लिहाज से सभी सफाई कर्मियों को सफाई अथवा कचरा एकत्रित करने के समय पंजा व मास्क पहनना जीएमसी की ओर से अनिवार्य किया गया है.

गंगटोक ब्यूटिफायर की सदस्यों का कहना है कि शहर को साफ करते समय सभी कर्मचारियों को किसी प्रकार की हीन भावना का आभास नहीं होता.  पालिका द्वारा प्रदान किए गए उपकरण हमारे स्वास्थ्य को सुरक्षित रखने में मददगार साबित होते हैं क्योंकी इन उपकरणों की सहायता से कचरे से सीधे संपर्क में न आते हुए दुर्गध व दूषित पदार्थ से दूर ही रहते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: