विनय तमांग का सिक्किम सरकार को चेतावनी- दार्जिलिंग मामलों में हस्तछेप न करें

गंगटोक

गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (गोजमुमो) के अध्यक्ष विनय तमांग ने सिक्किम सरकार को खुलेआम चेतावनी देते हुए दार्जिलिंग पर्वतीय क्षेत्र के राजनीतिक मामलों में हस्तक्षेप न करने की चेतावनी दी है. विनय तमांग ने कहा है कि अगर दार्जिलिंग के अंदरुनी मामलों में हस्तक्षेप हुआ तो पड़ोसी राज्य को भी अंजाम भुगतने के लिए भी तैयार रहना होगा. श्री तमांग ने सिक्किम सरकार को यह चेतावनी सुकना के स्कूल मैदान में आयोजित एक  जनसभा के दौरान दी.

 सभा को संबोधित करते हुए तमांग ने सिक्किम सरकार को आड़े हाथों लेते हुए दूसरे के घर में न झांकने की देते हुए कहा कि अगर दोनों पड़ोसी राज्य ही एक-दूसरे के अंदरुनी मामलों में तांक-झांक न करें तो दोनों राज्यों की ही भला होगा. अन्यथा हम भी पड़ोसी राज्य का मर्यादा लांघने को मजबूर होंगे और सिक्किम के राजनीतिक मामलों में जबरन हस्तक्षेप करेंगे.

 बता दें कि सिक्किम के मुख्यमंत्री पवन कुमार चामलिंग ने अलग गोरखालैंड राज्य बनाने की मांग का समर्थन किया है. कुछ महीने पहले जब पहाड़ पर गोरखालैंड आंदोलन की वजह से दार्जीलिंग 104 दिनों तक बंद था तो पवन चामलिंग ने गोरखालैंड की वकालत की थी.

चामलिंग के उसे ब्यान को ले कर तमांग ने जवाब दिया है. उन्होंने सिक्किम पर भूमिगत गोजमुमो नेता विमल गुरुंग पर पनाह देने का भी आरोप लगाया. उन्होंने इसके लिए भी पड़ोसी राज्य को सतर्क किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: