NATIONAL

जगदलपुर- जब एक पिता को मृत बच्चे का शव झोले में ले कर जाना पड़ा

जगदलपुर

एक बार फिर मानवता उस समय शर्मसार हो गयी जब 20 वर्ष के रमेश को अपने मृत बच्चे के शव को झोले में रखकर अस्पताल से जाना पड़ा.

इसे भी पढ़ें – स्ट्रेचर न मिलने पर मजबूर महिला बीमार पति को अस्‍पताल में घसीटकर ले गई

खबर छत्तीसगढ़ के ​जगदलपुर मेडिकल कॉलेज से आई है जहां रमेश की पत्नी शशिकला ने एक बच्चे को जन्म दिया.  लेकिन जन्म के पहले ही बच्चे की मौत हो गई.  इसके बाद उसे जल्द ही अस्पताल से बच्चे को ले जाने के लिए कहा गया. आरोप है कि रमेश को अपने बच्चे को झोले में रखकर ले जाना पड़ा.  जानकारी के मुताबिक,  रमेश बीजापुर जिले के लंकापल्ली के आईपेंटा गांव का रहना वाला है. वह बुधवार को अपनी पत्नी की डिलिवरी के लिए अस्पताल आया था.  लेकिन उसका बच्चा मृत पैदा हुआ.

इसे भी पढ़ें- दिना मांझी अपने कन्धों पर पत्नी का शव उठाकर मीलों पैदल चला

मामले को लेकर महिला के पति का कहना है कि नर्स ने बच्चे के जन्म के बाद कहा कि इसे ले जाओ और तुरंत बेड खाली करो. नर्स के ऐसा कहने के बाद महिला के पति को समझ नहीं आया कि शव का क्या करे? उसने थैले में शव को रखा और मदद के लिए कलेक्टर के पास गया.

इसे भी पढ़ें- ओडिशा- बेटी के शव गोद में उठाए पैदल चलते रहे माता पिता

यहां कलेक्टर के सामने समस्या यह आयी कि उक्त शख्‍स स्थानीय भाषा का प्रयोग कर रहा था जो उनकी समझ में नहीं आया और उन्होंने  रेडक्रास के लोगों से इनकी मदद करने के लिए कहा. रेडक्रास टीम ने दवाइयां दिलवाईं, लेकिन वे बच्चे की मौत का मामला समझा नहीं सके. जब टीम हॉस्पिटल पहुंची तो पूरा मामला समझ में आया.

एंबुलेंस नहीं मिली तो रामुलु एकेड ने पत्नी का शव घसीट कर ले गया 80KM दूर गाँव

रेडक्रास की टीम ने मामला समझने के बाद अस्पताल प्रबंधन से बात की, तब जाकर कहीं उसे शव के साथ एंबुलेंस में उसके घर भिजवाया गया.

इसे भी पढ़ें- MP-टायर और प्लास्टिक के कचरे से गरीब ने जलाई पत्नी की चिता

इसे भी पढ़ें- रांची-थाली नहीं था तो महिला मरीज को फर्श पर ही परोसा खाना

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close