NATIONALVIRAL

बेटी का शव ठेले पर रखकर ले गया पिता- इंसानियत हुई शर्मसार

राजनांदगांव ( छतीसगढ़ )

थोड़े थोड़े दिनों में देश के किसी न किसी राज्य से ऐसी ख़बरें और तस्वीरें आ जाती हैं जिसे पढने और देखने के बाद इंसानियत तो शर्मसार हो ही जाती है उस के साथ ही साथ सरकारी ढांचों की पोल भी खुल जाती है. इस बार  इंसानियत को शर्मसार कर देने वाली एक तस्वीर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह के विधानसभा क्षेत्र राजनंदगांव सी आई  है.

इसे भी पढ़ें- छत्तीसगढ़- बाईक पर शव बांधकर पोस्टमार्टम करवाने पहुंचा अस्पताल

तस्वीर में एक पिता और परिवार जन अपनी बेटी  का शव ठेले पर ले जाते दिख रहे  है.  इस तस्वीर को देख कर जहां दिल काँप जाता है वहीं इंसानियत शर्मसार हो जाती है. आरोप है कि जिला अस्पताल ने शव ले जाने के लिए शव वाहन पहले तो देने से इंकार कर दिया, बाद में लेट-लतीफी करने लगे, जिससे नाराज़ परिजनों ने किराये पर ठेला लिया और उसमें ही शव ले गए.

इसे भी पढ़ें- दिना मांझी अपने कन्धों पर पत्नी का शव उठाकर मीलों पैदल चला

ख़बरों के अनुसार छुरिया बखरूटोला की 20 वर्षीय स्कूली छात्रा खिलेश्वरी के पिता मनीराम को उन की बेटी का शव ले जाने के लिए डाक्टरों ने एंबुलेंस की सुविधा नहीं दिलाई.  घंटों इंतजार के बाद मृतिका के परिजन ठेले में ही बेटी का शव ढोकर अस्पताल से निकल गए.  इस खबर ने जहां पूरी इंसानियत को शर्मसार कर दिया वहीं सकारी व्यवस्था की पोल खोल कर रख दी है.

इसे भी पढ़ें- ओडिशा- बेटी के शव गोद में उठाए पैदल चलते रहे माता पिता

बेटी का शव ठेले पर लेकर निकले परिजन राम-नाम की जगह प्रशासन मुर्दाबाद के नारे लगाते रहे.  इसकी सूचना मिलते ही प्रशासन हरकत में आया.  आनन-फानन में प्राइवेट व सरकारी एंबुलेंस की व्यवस्था कराई गई, लेकिन परिजनों ने सरकारी एंबुलेंस को ठुकराते हुए निजी एंबुलेंस से बेटी का शव लेकर अपने गांव गए.

इसे भी पढ़ें- MP-टायर और प्लास्टिक के कचरे से गरीब ने जलाई पत्नी की चिता

इधर डाक्टरों की लापरवाही को लेकर कांग्रेसी हंगामा कर अस्पताल परिसर में बैठ गए. कांग्रेसियों ने डाक्टरों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की. प्रदर्शन की सूचना के बाद कलेक्टर भीम सिंह, एसडीएम अतुल विश्वकर्मा, डीन डा. आरके सिंह व सीएसपी सचिन देव शुक्ला सहित पुलिस की टीम अस्पताल पहुंची. प्रशासन की समझाने के बाद कांग्रेसी शांत हुए.

इसे भी पढ़ें- एंबुलेंस नहीं मिली तो रामुलु एकेड ने पत्नी का शव घसीट कर ले गया 80KM दूर गाँव

उधर डाक्टरों की लापरवाही और कांग्रेसियों के विरोध की खबर के बाद कलेक्टर भीम सिंह भी मेडिकल अस्पताल पहुंचे और डाक्टरों की इस लापरवाही पर नाराजगी जताते हुए डीन को फटकार भी लगाई.

इसे भी पढ़ें- रांची-थाली नहीं था तो महिला मरीज को फर्श पर ही परोसा खाना

इसे भी पढ़ें – स्ट्रेचर न मिलने पर मजबूर महिला बीमार पति को अस्‍पताल में घसीटकर ले गई

 

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close