GUWAHATI

चापरमुख – सिलघाट टाउन सेक्शन बनेगा एनएफ रेलवे का पहला ग्रीन कॉरिडोर

गुवाहाटी

एनएफ रेलवे चापरमुख – सिलघाट टाउन सेक्शन को इस साल के जून महीने के भीतर ग्रीन कॉरिडोर में परिवर्तित करने जा रहा है। रेलवे मंत्री के नेतृत्व में स्वच्छ भारत के लक्ष्य को पूरा करने के लिए नॉर्थईस्ट फ्रंटियर रेलवे द्वारा विभिन्न पहल किए जा रहे हैं और उन्हें कार्यान्वित किया जा रहा है|

चापरमुख – सिलघाट सेक्शन के अलावा चार और सेक्शन, रंगिया-मुर्कोंगसेलेक (नहरलागुन, देकारगांव और भालुकपोंग सहित 448 कि.मी.), बदरपुर-अगरतला (225 किमी), सिलचर-जिरिबम (50 किलोमीटर) और सिलचर-भैरवी (83 किमी) को भी चालू वित्त वर्ष के भीतर ग्रीन कॉरिडोर में परिवर्तित करने का प्रस्ताव है।

एन.एफ रेलवे के तहत 865 कोचों में 2990 पर्यावरण अनुकूल, बायो-टॉयलेट लगाए गए हैं। वर्ष 2019-20 तक सभी कोचों में बायो-टॉयलेट फिट होने की उम्मीद है।

गुवाहाटी, न्यू जलपाईगुड़ी और कटिहार स्टेशनों में स्वच्छ रेलवे स्टेशन (सीटीएस) लागू किया गया है, जहां मैकेनाइज्ड माध्यमों से डिब्बों को साफ किया जाता है।

50 ट्रेनों में डिब्बों की सफाई के लिए ओन-बोर्ड हाउसकीपिंग सर्विसेज (OBHS) उपलब्ध कराई गई है। इस सुविधा के साथ अधिक ट्रेनें शीघ्र ही उपलब्ध कराई जाएंगी।

50 ट्रेनों में सफाई, पानी, सुविधा, क्षुद्र मरम्मत, बिजली की समस्याओं आदि पर यात्रियों से शिकायत प्राप्त करने की एक ऐप आधारित प्रणाली “कोच मित्रा” संतोषजनक ढंग से काम कर रही है| इसमें यात्रियों की शिकायतों का तत्काल निपटान किया जाता है|

ट्रेन, रेलवे  स्टेशनों, रेलवे कॉलोनियों और कार्यालयों में सफाई के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए जोरदार प्रयास किए जा रहे हैं। इस संबंध में विशेष कार्यशालों का आयोजन किया जाता हैं| नुक्कड़ नाटकों का मंचन किया जाता है, पोस्टर लगाए जाते हैं और स्टेशनों में पब्लिक एड्रेस सिस्टम का इस्तेमाल किया जाता है ताकि लोगों को साफ-सफाई के बारे में पता हो।

रोटरी क्लब, संत निरंकारी चैरिटेबल फाउंडेशन, एनजीओ, स्काउट्स और गाइड्स जैसे विभिन्न संगठन रेलवे के जागरूकता बढ़ाने के प्रयासों से जुड़ा हैं।

इन सभी प्रयासों ने स्वच्छता पर समग्र परिदृश्य को सुधारने में बेहद मदद की है। स्वच्छता पर कुछ दिन पहले ही घोषित नवीनतम अखिल भारतीय सर्वेक्षण रिपोर्ट ने यह स्पष्ट किया है| रंगिया स्टेशन ने “ए” श्रेणी के स्टेशन में 7 वां स्थान हासिल किया है जो कि पिछले वर्ष की तुलना में 71 स्थान आगे है। इसी तरह, गुवाहाटी स्टेशन ने “ए 1” श्रेणी के स्टेशन में 18 वें स्थान पर कब्जा जमाया है जो कि पिछले वर्ष से 55 स्थान आगे है। लमडिंग, न्यू कूचबिहार, अलीपुरद्वार जंक्शन जैसे अन्य महत्वपूर्ण स्टेशनों ने भी पिछले साल की तुलना में अपनी स्थिति में सुधार किया है।

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close