असम: पूर्वोत्तर के राज्यों में असम में भिकारी सबसे अधिक 22116

गुवाहाटी

क्या आप को मालूम है कि पूर्वोत्तर के राज्यों में असम में भिकारियों संख्या सबसे अधिक 22 हजार 116 है जब के सब से कम मिजोरम में केवल 53 भिकारी हैं.

दरअसल लोकसभा में एक लिखित सवाल के जवाब में केंद्रीय सामाजिक न्याय मंत्री थावर चंद गहलोत ने बताया कि देशभर में कुल 4 लाख 13 हजार 760 भिखारी हैं. इनमें से 2 लाख 21 हजार 673 पुरुष हैं, जबकि 1 लाख 91 हजार 997 महिलाएं भी भीख मांगने को मजबूर हैं.

लोकसभा में पेश की गर्इ एक  रिपोर्ट  के अनुसार असम में 22 हजार 116 लोग भीख मांगकर अपना पेट भरने पर मजबूर हैं.  इसके बाद दूसरे पायदान पर त्रिपुरा है जहां 1 हजार 490 लो भीख मांगतें है. तीसरे पायदान पर मेघालय, जहां 396 भिखारी हैं.  मणिपुर में 263, नागालैंड में 124, अरुणाचल प्रदेश में 114, सिक्किम में 68 और मिजोरम में 53 लोग अपना गुजारा भीख मांगकर करते हैं.

इस सूची में पश्चिम बंगाल पहले तो वहीं देश का सबसे बड़ा राज्य उत्तर प्रदेश दूसरे पायदान पर है.  सबसे ज्यादा भिखारी के मामले में बिहार तीसरे पायदान पर है.  इस आंकड़े के मुताबिक, पश्चिम बंगाल सहित असम और मणिपुर जैसे राज्यों में पुरुष भिखारियों के मुकाबले महिला भिखारियों की संख्या ज्यादा है।

हालांकि केंद्र शासित प्रदेशों में भिखारियों की संख्या काफी कम है। सरकारी रिकार्ड के अनुसार लक्षद्वीप में केवल दो भिखारी हैं जिसके बाद दादरा नागर हवेली, दमन एवं दीव तथा अंडमान निकोबार द्वीप में क्रमश: 19 भिखारी, 22 भिखारी और 56 भिखारी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: