आब्सू ने मेधावी छात्रों को कमल कुमार ब्रह्म देरहासत पुरस्कार से किया सम्मानित

बरमा

आब्सू ने मैट्रिक की परीक्षा में शीर्ष दस में जगह बनाने वाले बोड़ो माध्यम स्कूलों के विद्यार्थियों को कमल कुमार ब्रह्म देरहासत पुरस्कार से सम्मानित किया| यह पुरस्कार वर्ष 2006 से ही आब्सू मैट्रिक की परीक्षा में शीर्ष दस में जगह बनाने वाले असम के बोड़ो माध्यम के मेधावी विद्यार्थियों को देता आया है|

हर साल आब्सू ही शीर्ष दस विद्यार्थियों को पुरस्कार के लिए चुनता है और संगठन के मुताबिक इस पुरस्कार का उद्देश्य युवा पीढ़ी को गुणवत्ता शिक्षा के बारे में जागरूक बनाना है| आब्सू ने सन 2006 को ‘इयर ऑफ एजुकेशन’ घोषित करते हुए यह पहल शुरू की थी और बाद में सन 2007 – 2020 तक ‘मिशन क्वालिटी एजुकेशन’ घोषित किया था|

मिशन क्वालिटी एजुकेशन में स्कूली स्तर पर विभिन्न गतिविधियाँ जिनमें करियर काउंसलिंग, कोचिंग कैंप आदि शामिल हैं| हर साल Central Talent Search Exam का आयोजन कर आब्सू बोड़ो माध्यम स्कूलों के छात्र-छात्राओं को क्वालिटी टेस्ट का मौका देता है| इस साल मैट्रिक की परीक्षा में असम के शीर्ष दस विद्यार्थियों में जगह बनाकर 10 वां स्थान हासिल करने वाले बरपेटा के बिबुनग्सर बसुमतारी ने आब्सू द्वारा आयोजित Central Talent Search Exam में भी वर्ष 2015 और 2016 में टॉप किया था|

सेबा द्वारा आयोजित वर्ष 2017 की मैट्रिक परीक्षा में शीर्ष दस स्थान हासिल करने वाले विद्यार्थियों को आब्सू ने विशेष पुरस्कार से सम्मानित किया| वहीँ परीक्षा में 10 वां स्थान हासिल करने वाले बरपेटा के बिबुनग्सर बसुमतारी को 50000 रुपयों के नकद पुरस्कार से सम्मानित किया गया|

इधर एपीएससी 2016 के एसीएस अधिकारी बीरबल ब्रह्म को भी आब्सू ने उनकी कड़ी मेहनत और सफलता के लिए सम्मानित किया|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: