NORTHEAST

Northeast की – ख़बरें फ़टाफ़ट 07th  April 2017

गुवाहाटी – आईपीएस अधिकारी राजामार्थंदन गिरफ्तार

सीआईडी ऑफिसर डॉ. एन राजामार्थंदन से लगातार 10 घंटे तक पूछताछ के बाद शुक्रवार को पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया| राजामार्थंदन सिलापथार में आसू के कार्यालय पर हुए हमले की जांच कर रहे विशेष जांच दल का नेतृत्व कर रहे थे| वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी पर सिलापथार कांड के मुख्य आरोपी सुबोध विश्वास की गिरफ्तारी से संबंधित जानकारी सार्वजनिक करने का आरोप है| हालांकि राजामार्थंदन इस आरोप से साफ इनकार कर रहे है| राजामार्थंदन पर दूसरा आरोप है कि उन्होंने एक आरटीआई का जवाब देकर सुबोध विश्वास से संबंधित जांच को सार्वजनिक करने की कोशिश की है| इसी आरोप के आधार पर उन्हें सस्पेंड करके उनसे पूछताछ की गई| पूछताछ के अंत में आज उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया और गुवाहाटी की अदालत में पेश किया गया| अदालत ने उन्हें दो दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है|

धेमाजी – सुमित्रा पाटिर बीजेपी में शामिल

धेमाजी में विधानसभा के उपचुनाव से महज तीन दिन पहले शुक्रवार को वरिष्ठ कांग्रेस नेता तथा पूर्व मंत्री सुमित्रा पाटिर बीजेपी में शामिल हो गई| कांग्रेस के टिकेट से दो बार विधानसभा के लिए चुनी गई पाटिर ने आज धेमाजी सर्किट हाउस में आयोजित सादे कार्यक्रम में मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल और वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री हिमंत विश्व शर्मा की उपस्थिति में पार्टी ज्वाइन कर ली| सुमित्रा पाटिर के बीजेपी में शामिल होने पर प्रतिक्रिया देते हुए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष रिपुन बोरा ने कहा कि जनजाति नेता ने एपीएससी नियुक्ति घोटाले की जांच से बचने के लिए बीजेपी से हाथ मिलाया है चूँकि उनके दो बेटों का नाम भी एपीएससी के लाभार्थियों में शामिल है|

काकोपथार – उल्फा का स्थापना दिवस

वार्तासमार्थक और वार्ताविरोधी उल्फा सदस्यों ने आज संगठन का 38 वां स्थापना दिवस मनाया| वार्तासमार्थक गुट ने इस मौके पर काकोपथार में दिन भर कार्यक्रम आयोजित किए जिसमें उल्फा के शीर्ष नेता उपस्थित थे| कार्यक्रम की शुरुआत संगठन का झंडा फहराकर की गई| इसके बाद संगठन के शहीदों को पुष्पांजलि अर्पित की गई| कार्यक्रम में उल्फा के अध्यक्ष अरविंद राजखोवा, एनडीएफबी(पी) और एनएससीएन के नेता और विभिन्न कुकी संगठनों के नेता उपस्थित थे| संगठन की स्थापना 7 अप्रैल 1979 में अरविंद राजखोवा, अनूप चेतिया और प्रदीप गोगोई ने रंगघर परिसर में एक बैठक के दौरान की थी|

कोकराझाड़ – राष्ट्रीय राजमार्ग अवरोध

आदिवासी नेशनल कन्वेंशन द्वारा तकरीबन 5 घंटे तक राष्ट्रीय राजमार्ग का अवरोध किए जाने से शुक्रवार को कोकराझाड़ जिले के कारीगाँव में यातायात प्रभावित हुआ| आदिवासी संगठन अपनी विभिन्न मांगों के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे थे, जिनमें आदिवासियों को अनुसूचित जनजाति का दर्जा देने तथा राज्य के चाय बागानों में काम करने वाले आदिवासियों को भूमि-पट्टा देने की मांग शामिल है| बड़ी संख्या में आदिवासियों ने इस प्रदर्शन में हिस्सा लिया| एएनसी ने राज्य के विभिन्न स्थानों में भी राष्ट्रीय राजमार्ग का घेराव किया| सड़क अवरोध की वजह से निचले असम के कई स्थानों में घंटों तक दूरगामी यात्री बसें फंसी रही| सुबह 7 बजे से शुरू हुआ यह अवरोध 12 बजे तक जारी रहा जिसके बाद प्रशासन द्वारा संबंधित प्रबंधन तक प्रदर्शनकारियों का संदेश पहुँचाने का आश्वासन देने पर अवरोध वापस लिया गया| एएनसी ने समुदाय की समस्याओं को सुलझाने की मांग में कोकराझाड़ के उपायुक्त के जरिए मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल को एक ज्ञापन सौंपा है|

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close