माईनाव ब्रह्म की मौत का मामला- ABSU और ABWWF द्वारा न्यायिक जांच की मांग

उदालगुड़ी

आब्सू की उदालगुड़ी जिला समिति और आल बोड़ो वीमेन वेलफेयर फेडरेशन ने गत 21 मार्च को बंगलुरू में माईनाव ब्रह्म की रहस्यजनक ढंग से हुई मौत के सिलसिले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से न्यायिक जांच की मांग की है|

उदालगुड़ी जिले के गोरेमारी गाँव के निवासी बाबुल चंद्र ब्रह्मा की बेटी 27 वर्षीय माईनाव ब्रह्म पिछले 6 साल से बंगलुरू के जेपी मॉर्गन कंपनी में कार्यरत थी| 21 मार्च को उसका शव कोरामोंगला 8 नंबर ब्लॉक में उसके रूम से बरामद हुआ था| उसी दिन लड़की के पिता ने अपनी बेटी की हत्या के संदेह में कोरामोंगला पुलिस थाने में प्रदीप नामक एक शख्स के खिलाफ आईपीसी की धारा 137/17 U/S 420,306 के तहत  एफआईआर दर्ज करवाई थी|

दोनों संगठनों का आरोप है कि घटना के सिलसिले में पुलिस ने अब तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया है| इस सिलसिले में आब्सू और ABWWF की उदलगुड़ी जिला समिति ने 5 अप्रैल को उपायुक्त साधना होजाई से मुलाकात की और प्रधानमंत्री के नाम एक ज्ञापन उन्हें सौंपा|

ज्ञापन में आब्सू की उदालगुड़ी जिला समिति के अध्यक्ष रतेंद्र दैमारी, सचिव अनूप दैमारी और ABWWF की उदालगुड़ी जिला समिति की प्रवक्ता मलोती बसुमतारी ने हस्ताक्षर किए है| इसमें प्रधानमंत्री से माईनाव ब्रह्म की रहस्यजनक मौत की उच्च स्तरीय न्यायिक जांच कराने और संदिग्ध मुख्य आरोपी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का अनुरोध किया गया है ताकि पीड़ित परिवार को इंसाफ मिल सके| साथ ही प्रधानमंत्री से अनुरोध किया गया है कि वे भारत के विभिन्न स्थानों में पूर्वोत्तर के अध्ययनरत तथा कार्यरत लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करें| इसके अलावा माईनाव ब्रह्म के परिवार को मुआवजा प्रदान करें| इसमें यह भी कहा गया है कि माईनाव की पहले बेरहमी से हत्या की गई और उसके बाद आत्महत्या का रूप देने के लिए उसके शव को लटका दिया गया|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: