गणतंत्र दिवस परेड में असम की झांकी को मिला दूसरा पुरस्कार

नई दिल्ली

राजपथ पर गणतंत्र दिवस परेड के दौरान मुखौटा कला को प्रदर्शित करती हुई असम की झांकी को दूसरा पुरस्कार मिला जब की पहला पुरस्कार छत्रपति शिवाजी महाराज को दर्शाती महाराष्ट्र की झांकी ले गया. वहीं तीसरा तीसरा पुरस्कार प्राप्त किया छत्तीसगढ़ की झांकी जो रामगढ़ की प्राचीन नाट्यशाला पर आधारित थी।

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने रविवार को यहां एक कार्यक्रम में विजेता टीमों को पुरस्कार प्रदान किया. टीमों को पुरस्कार प्रदान किया. तीनों सैन्य सेवाओं के बीच सेना की पंजाब रेजिमेंट को सर्वश्रेष्ठ मार्चिंग कांटिजेंट ट्रॉफी का पुरस्कार मिला.

गणतंत्र दिवस परेड में असम की झांकी को मिला दूसरा पुरस्कार

भारत-तिब्बत सीमा पुलिस टीम ने अर्द्धसैन्य और अन्य सहायक बलों के बीच सर्वश्रेष्ठ मार्चिंग दस्ते का पुरस्कार जीता. केंद्रीय मंत्रालयों और विभागों की झांकी की श्रेणी में युवा मामले और खेल मंत्रालय ने सर्वश्रेष्ठ झांकी का पुरस्कार जीता.

गणतंत्र दिवस परेड में 14 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों ने अपनी झांकी प्रस्तुत की. नौ केंद्रीय मंत्रालय और विभागों के साथ ही केंद्रीय अर्द्धसैन्य बलों ने भी अपनी झांकी प्रदर्शित की. स्कूली बच्चों के प्रदर्शन में साउथ सेंट्रल जोन कल्चरल सेंटर के बारेडी डांस(मध्यप्रदेश से) को पहला पुरस्कार मिला.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: