आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रवि शंकर का गुवाहाटी दौरा कल

गुवाहाटी

आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रवि शंकर मंगलवार को गुवाहाटी के दौरे पर आ रहे हैं| माना जा रहा है कि उनके इस दौरे से पूर्वोत्तर में शांति स्थापना के क्षेत्र में दूरगामी प्रभाव पड़ेगा|

अपने इस दौरे में श्री श्री रवि शंकर कई सार्वजनिक व निजी कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे| पूर्वोत्तर क्षेत्र से जुड़े मुद्दों को अहिंसक और गणतांत्रिक ढंग से सुलझाने के उद्देश्य से वे समाज के सभी वर्ग के लोगों से बातचीत करेंगे| इसके तहत वे क्षेत्र के विचारकों और मत निर्माताओं के सम्मेलन को संबोधित करेंगे|

श्री श्री रवि शंकर यहाँ नार्थ ईस्ट इंडिजेनस पीपल्स कांफ्रेंस को भी संबोधित करेंगे जिसका आयोजन समान विचारधारा रखने वाले प्रसिद्द व्यक्तियों और क्षेत्र के गुटों द्वारा किया जाएगा| इस कांफ्रेंस की खास बात यह होगी कि इसमें कई पूर्व उग्रवादी नेता उपस्थित रहेंगे| वहीँ इस कार्यक्रम के संयोजक होंगे वार्ता समर्थक उल्फा के महासचिव अनूप चेतिया| वर्ष 2013 में हथियार डालने वाले असम के उग्रवादी संगठन डिमा हालम दाउगा के नेता दिलीप नुनीसा तथा त्रिपुरा नेशनल वालंटियर्स के पूर्व नेता विजय कुमार ह्रंग्खाव्ल भी इस सम्मेलन  में उपस्थित रहेंगे|

आर्ट ऑफ लिविंग के संजय कुमार ने कहा, “सशस्त्र गतिविधियों से जुड़े पूर्व नेताओं को को एक साथ लाकर क्षेत्र से जुड़े मुद्दों को सुलझाने और शांति का माहौल बनाने में गुरुदेव एक ऐतिहासिक कदम उठा सकते हैं|”

श्री श्री रवि शंकर अधिभौतिक शांति सम्मेलन में भी शिरकत करेंगे| वे साथ ही आर्ट ऑफ लिविंग द्वारा बाढ़ पीड़ितों के लिए उठाए जा रहे कदमों का भी जायजा लेंगे|

असम के बाद श्री श्री रविशंकर अरुणाचल प्रदेश का दौरा करेंगे जहाँ वे तवांग के भारत-चीन सीमावर्ती शहर में मैत्रेय दिवस आयोजन में हिस्सा लेंगे| वे अरुणाचल प्रदेश सरकार द्वारा आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों में भी शिरकत करेंगे|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: