समाज कल्याण विभाग में भ्रष्टाचार हुआ हो तो डीसी दोषी – अकन बोरा

गुवाहाटी

समाज कल्याण विभाग में अगर भ्रष्टाचार हुआ है तो इसके लिए डीसी दोषी है| पूर्व मंत्री अकन बोरा ने यह बात कही है| समाज कल्याण विभाग में कथित 2200 करोड़ के घोटाले की चर्चा में रोचक मोड़ आ गया है| राज्य के एंटी करप्शन एंड विजिलेंस विभाग के जांच घेरे में आए पूर्व मंत्री अकन बोरा ने विभाग के एक पैसे का भी दुरूपयोग नहीं करने की दुहाई देते हुए दोष उपायुक्त पर डाल दिया है|

वर्ष 2012 से 2015 तक हुए घोटाले में कई गैर-सरकारी संगठनों के भी लपेटे में आने की उम्मीद जताई जाने लगी है| बताया जा रहा है कि इस अवधि में तकरीबन 7 करोड़ से अधिक की सामग्री बाजार मूल्य से अधिक दाम पर खरीदी गई थी|

शुक्रवार को कई घंटों तक एंटी करप्शन एंड विजिलेंस विंग की जिरह का सामना कर चुके बोरा शनिवार को प्रेस क्लब में पत्रकारों के सामने अपनी स्थिति साफ कर रहे थे| उन्होंने कहा कि अपने कार्यकाल में जो भी कार्य किया वह केंद्र सरकार की अनुमति लेकर ही किया| बोरा के मुताबिक उनके कार्यकाल में कोई भ्रष्टाचार या घोटाला नहीं हुआ| उनके मुताबिक उनके विभाग में धन का लेन-देन उपायुक्त के माध्यम से होता था| हर तरह की जांच का निरीक्षण उपायुक्त ही करते थे| उन्होंने कभी किसी निकट संबंधी को नौकरी तक नहीं दी| साड़ी नियुक्तियां नियमों का पालन करते हुए योग्यता के आधार पर दी गई है|

एक बार फिर उन्होंने एंटी करप्शन एंड विजिलेंस विभाग की जांच में सहयोग करने का दावा करते हुए कहा कि आगे यदि किसी तरह का भ्रष्टाचार सामने आता है तो राज्य के वर्तमान समाज कल्याण मंत्री को वे पूरा सहयोग करेंगे|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: