NORTHEAST

Tripura Assembly Elections 2023: अब तक 81 प्रतिशत मतदान की खबर

कड़ी सुरक्षा के बीच हिंसा की छिटपुट घटनाओं के अलावा मतदान प्रक्रिया काफी हद तक शांतिपूर्ण रही।

अगरतला: त्रिपुरा विधानसभा चुनाव Tripura Assembly Elections 2023 में गुरुवार को शाम चार बजे तक कुल 81 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। 2013 और 2018 के विधानसभा चुनावों में क्रमश: 91.82 प्रतिशत और 89.38 प्रतिशत मतदान हुआ था। बहरहाल कड़ी सुरक्षा के बीच हिंसा की छिटपुट घटनाओं के अलावा मतदान प्रक्रिया काफी हद तक शांतिपूर्ण रही।

चुनाव अधिकारी ने बताया कि शाम 4 बजे आधिकारिक रूप से मतदान समाप्त होने के बाद भी राज्य भर के कई मतदान केंद्रों पर एक लाख से अधिक मतदाता कतार में थे। अंतिम मतदान प्रतिशत 86 प्रतिशत को पार कर सकता है।

Bhimashankar Jyotirlinga पर Assam का विज्ञापन Maharastra में बना राजनीतिक मुद्दा

चुनाव के दौरान राज्य के अलग-अलग जिलों से राजनीतिक कार्यकर्ताओं पर हमले, मतदाताओं को डराने-धमकाने और बाधित करने की कई घटनाएं सामने आई हैं। गोमती, सिपाहीजला, दक्षिण त्रिपुरा और पश्चिम त्रिपुरा जिलों में कम से कम 60 विपक्षी दल के कार्यकर्ताओं के घायल होने की सूचना मिली। मतदान के दौरान हिंसा की अलग-अलग घटनाओं में मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के एक नेता और वाम दल के दो पोलिंग एजेंट सहित कम से कम तीन व्यक्ति घायल हो गए। वोटों की गिनती 2 मार्च को होगी।

स्ट्राबरी खाओ और हाई ब्लडप्रेशर से खुद को बचाओ

कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान प्रक्रिया काफी हद तक शांतिपूर्ण रही। उन्होंने कहा कि दोपहर तीन बजे तक कुल 69.96 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया। जबकि चार बजे यह बढ़कर 81 प्रतिशत तक पहुंच गया। उन्होंने कहा कि चुनाव स्वतंत्र और निष्पक्ष तरीके से चुनाव कराए गए। हालांकि, इस दौरान हिंसा की छिटपुट घटनाएं भी सामने आईं हैं।

बोतल बंद पानी, जानलेवा भी हो सकता है- शोध

त्रिपुरा में इस बार त्रिकोणीय मुकाबला होने की संभावना है। बीजेपी और आईपीएफटी गठबंधन सत्ता पर कब्जा बरकरार रखने की कोशिश में है। वहीं, वाम-कांग्रेस गठबंधन ने भी सत्ता पाने के लिये पूरा ज़ोर लगाया है। क्षेत्रीय संगठन टिपरा मोथा स्वायत्त परिषद चुनावों में अपने शानदार प्रदर्शन के बाद विधानसभा के चुनाव मैदान में पहली बार उतरी है। बीजेपी 55 विधानसभा सीट पर चुनाव लड़ रही है, जबकि उसकी सहयोगी आईपीएफटी ने छह सीट पर उम्मीदवार उतारे हैं। एक सीट पर दोनों के बीच दोस्ताना मुकाबला होगा। वाम मोर्चा 47 सीट पर चुनाव लड़ रहा है और इसकी गठबंधन सहयोगी कांग्रेस 13 सीट पर चुनाव लड़ रही है। तृणमूल कांग्रेस ने 28 सीट पर उम्मीदवार उतारे हैं और 58 निर्दलीय उम्मीदवार भी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button