NATIONALNORTHEAST

सिक्किम के सीएम प्रेम सिंह तमांग पहुंचे हरियाणा के पहाड़ी माता मंदिर

हाल ही में हुए सिक्किम विधान सभा में जीत के बाद सिक्किम के मुख्य मंत्री प्रेम सिंह तमांग हरियाणा के पहाडी माता मंदिर पहुंचे , और माता के दरबार में ध्वजा चढ़ाकर माता का आशीर्वाद लिया ।


लोहारू

सिक्किम के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग पहाड़ी माता मंदिर में माता के दर्शन करने पहुंचे। उन्होंने पूजा अर्चना की और सिक्किम और हरियाणा के लोगों के लिए मन्नत मांगी। उन्होंने यहां पर पांच घंटे बिताए। सुबह का नाश्ता दोपहर का खाना पहाड़ी माता मंदिर पर ही ग्रहण किया। प्रेमसिंह तमांग ने पहाड़ी माता मंदिर में चांदी के छत्र और ध्वज चढ़ाए।

उत्तर भारत के प्रमुख मंदिर पहाड़ी माता मंदिर में मातारानी के दर्शन करने के लिए आने वाले प्रेम सिंह तमांग देश के पहले मुख्यमंत्री हैं। उन्होंने यहां पर सिक्किम और हरियाणा के लोगों के लिए मन्नत मांगी। साथ ही कहा कि उत्तर भारत के बड़े मंदिरों में शुमार होने वाले इस मंदिर के विकास के लिए वह हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल से भी बात करेंगे। वह खुद भी इसके विकास में मदद के लिए तैयार हैं।

पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने बताया कि चुनाव से पूर्व उन्होंने माता से मन्नत की थी कि चुनाव बाद मंदिर में पहुंचकर पूजा अर्चना करेंगे। वह मातारानी के दर्शन करने यहां पहुंचे हैं और भविष्य में भी यह सिलसिला जारी रहेगा।

उन्होंने कहा कि हरियाणा प्रदेश के वातावरण व विकास से प्रभावित हूं। हरियाणा प्रदेश तेजी से विकास के पथ पर अग्रसर है। यहां विकास के नए आयाम स्थापित हुए हैं। उन्होंने कहा कि सिक्किम में भी लोगों की भलाई व रोजगार के लिए अनेक योजनाएं शुरू की गई हैं।

इस पहले विधायक एवं पूर्व मंत्री घनश्याम सर्राफ, राजेंद्र प्रसाद सातरोड़िया, सुरेश शर्मा, मंदिर के पुजारियों व पहाड़ी के गणमान्य व्यक्तियों ने सिक्किम के मुख्यमंत्री का स्वागत किया। इस अवसर पर सिक्किम के पर्यटन मंत्री बीएस पंत, सिक्किम के आयुक्त अश्वनी कुमार चांद, लोहारू के एसडीएम डा. वेदप्रकाश, डीएसपी गजेंद्र सिंह, तहसीलदार नरेंद्र दलाल, नायब तहसीलदार रामपाल, एसएचओ करणपाल, उप-निरीक्षक सुनील कुमार, पूर्व चेयरमैन मुंशीराम, सरपंच गजानंद अग्रवाल, सतबीर चेहड़, ईश्वर नकीपुर, सतबीर पहाड़ी सहित अनेक अधिकारी मौजूद रहे।

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close