योगी आदित्यनाथ के फेसबुक पोस्ट पर असम में आक्रोश

गुवाहाटी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के फेसबुक एकाउंट में असम की एक घटना से संबंधित अश्लील फोटो पोस्ट करने को लेकर राज्य में आक्रोश की लहर है| कई जगह आदित्यनाथ के पुतले भी जलाए गए| अखिल असम आदिवासी छात्र संघ की ओर से मोरानहाट में इस बारे में एक रिपोर्ट भी दर्ज कराई गई है|

वहीँ कांग्रेस ने इसे उसको बदनाम करने की भाजपा की साजिश का एक हिस्सा बताया है| फेसबुक पोस्ट में कथित तौर पर बंगाल में कांग्रेस कर्मियों की करतूत बताते हुए यह अश्लील फोटो जारी किया गया था| दरअसल पोस्ट की गई यह तस्वीर वर्ष 2007 के गुवाहाटी में हुए बेलतला कांड की है, जिसमें एक आदिवासी युवती के साथ शर्मनाक घटना घटी थी|

प्रदेश कांग्रेस के मुताबिक गुवाहाटी में घटी घटना की फोटो एक अन्य समुदाय की युवती की और बंगाल में घटी बता फेसबुक पर डालना भाजपा की मानसिकता को जताता है|

इसी बीच उक्त पोस्ट को शेयर कर तेजपुर के सांसद आरपी शर्मा भी विवादों में घिर चुके है| शर्मा के मुताबिक उन्होंने जान-बुझकर पोस्ट को शेयर किया है ताकि कांग्रेस के दिनों में असम में क्या हुआ था यह सभी को पता चले|

सांसद के इस ब्यान के बाद प्रदेश कांग्रेस ने इसे अशोभनीय बताते हुए कहा है कि उन्हें इसके लिए  सार्वजनिक तौर पर माफ़ी मांगनी चाहिए| इस बीच कृषक नेता अखिल गोगोई ने भी इसे लेकर आक्रोश जताया है| उन्होंने कहा कि ऐसा करके एक बार फिर बरसों पहले घटना की शिकार हुई युवती को फिर से शिकार बनाया गया है|

हालांकि भाजपा ने उक्त फेसबुक पोस्ट को फर्जी बताया है| पांच दिन पहले योगी आदित्यनाथ ‘योगी’ के नाम से फेसबुक पर खुले उक्त एकाउंट में यह विवादित पोस्ट जारी हुई थी| उसमें दिख रही दो तस्वीरों को कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बताते हुए पश्चिम बंगाल में एक हिंदू महिला को निशाना बनाने की बात लिखी गई थी|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: