असम की सड़कों पर महिलाएं दौड़ा रही हैं गुलाबी ऑटोरिक्शा

गुवाहाटी

असम के सड़कों पर महिलाएं, टैक्सी के बाद अब गुलाबी ऑटोरिक्शा दौड़ा रही हैं.  यह ऑटो रिक्शा केवल महिला सवारियों के लिए है और इसे महिला चालक ही चलाती हैं. इस विशेष  की ऑटोरिक्शा की पहचान गुलाबी ऑटोरिक्शा के नाम से है क्योंकि ऐसे सभी ऑटोरिक्शा जिसे महिला चला रही हैं का रंग गुलाबी है.

बोंगईगांव शहर के परियोजना प्रबंधक कुसुम्बर चौधरी के अनुसार राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के तहत पिछले हफ्ते यहां पहले बैच में आर्थिक रूप से कमजोर पृष्ठभूमि की 13 महिलाओं को गुलाबी गुलाबी ऑटोरिक्शा दिए गए हैं. पहली बैच की ये महिलाएं एक स्वयं-सहायता समूह (एसएचजी) से आई हुई हैं जिसमें अधिकतर विवाहित हैं. इन सभी को गुवाहाटी के दिसपुर ड्राइविंग प्रशिक्षण स्कूल में वाहन चलाने का प्रशिक्षण दिया गया.

दो महीने के प्रशिक्षण के बाद उन्हें गुलाबी ऑटोरिक्शा दिया गया है. शुरुआत में ये महिलाएं सुबह से लेकर शाम छह बजे तक सड़कों पर गुलाबी ऑटोरिक्शा चलाएंगी और इस दौरान पोशाक के रूप में ये सलवार-कमीज पहनी रहेंगी.

इसमें से दस ऑटोरिक्शा बोंगईगांव रिफाइनरी ने दिए हैं जबकि बाकी तीन की व्यवस्था एसएचजी ने राष्ट्रीयकृत बैंकों से ऋण लेकर की है.

बता दें कि दिल्ली, मुंबई, सूरत, रांची और भुवनेश्वर जैसे शहरों में महिलाओं और बच्चों के लिए विशेष रूप से गुलाबी गुलाबी ऑटोरिक्शा सेवा का परिचालन किया जाता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: