Health

काली मिर्च का उपयोग स्तन और पेट के कैंसर से बचाता है, अमेरिकी विशेषज्ञ

वेब डेस्क

अमेरिका में किए गए हाल के चिकित्सा अनुसंधान के अनुसार काली मिर्च न सिर्फ स्तन कैंसर की प्रतिरोधी है बल्कि यह त्वचा और पेट के कैंसर के प्रसार को रोकने में भी मददगार साबित होती है।

चिकित्सा विशेषज्ञों ने कहा है कि करकोमन नामक मिश्रण के साथ काली मिर्च का उपयोग मानसिक कोशिकाओं की रक्षा के लिए भी बहुत उपयोगी है। उन्होंने कहा कि काली मिर्च में शामिल घटकों वजन घटाने में भी सहायता प्रदान करते हैं और इसके अलावा नज़ला और जुकाम, अवसाद, हृदय सहित अन्य विभिन्न रोगों से बचाव में भी काली मिर्च महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। उन्होंने कहा कि काली मिर्च उपयुक्त का उपयोग स्तन, त्वचा और पेट के कैंसर से सुरक्षा में भी मदद देता है।

काली मिर्च के औषधीय गुणkali mirch-2

  • जुकाम होने पर काली मिर्च मिलाकर गर्म दूध पीएं। यदि जुकाम बार-बार होता है, अक्सर छीकें आती हैं तो काली मिर्च की संख्या एक से शुरू करके रोज एक बढ़ाते हुए पंद्रह तक ले जाए फिर प्रतिदिन एक घटाते हुए पंद्रह से एक पर आएं। इस तरह जुकाम एक माह में समाप्त हो जाएगा।
  • खांसी होने पर आधा चम्मच काली मिर्च का चूर्ण और आधा चम्मच शहद मिलाकर दिन में 3-4 बार चाटें। खांसी दूर हो जाएगी।
  • गैस की शिकायत होने पर एक कप पानी में आधे नीबू का रस डालकर आधा चम्मच काली मिर्च का चूर्ण व आधा चम्मच काला नमक मिलाकर नियमित कुछ दिनों तक सेवन करने से गैस की शिकायत दूर हो जाती है।
  • काली मिर्च को घी और मिश्री के साथ मिलाकर चाटने से बंद गला खुल जाता है और आवाज़ सुरीली हो जाती है। आठ-दस काली मिर्च पानी में उबालकर इस पानी से गरारे करें, इससे गले का संक्रमण खत्म हो जाएगा।
  • पेट में कीड़े की समस्या से ग्रस्त हैं तो काली मिर्च को किशमिश के साथ 2-3 बार चबाकर खा जाएं। एक गिलास छाछ में थोड़ी सा काली मिर्च का पाउडर मिलाकर पीने से भी पेट के कीड़े मर जाते हैं।
  • दांतों में होने वाले रोग पायरिया से परेशान हैं और दांत कमजोर हैं तो काली मिर्च को नमक के साथ मिलाकर दांतों पर लगाएं, जल्द ही लाभ होगा।
  • काली मिर्च 20 ग्राम, जीरा 10 ग्राम और शक्कर या मिश्री 15 ग्राम कूट-पीस कर मिला लें। इसे सुबह -शाम पानी के साथ फांक लें। बवासीर रोग में लाभ होता है।

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close