श्री श्री रविशंकर का आर्ट ऑफ लिविंग कार्यक्रम: राज्यसभा में हंगामा

नई दिल्ली

श्री श्री रविशंकर के आर्ट ऑफ लिविंग कार्यक्रम को ले कर जहां आज राज्यसभा में हंगामा हुआ वहीं खबर है कि मुख्‍य अतिथि के तौर पर इस कार्यक्रम में उपस्थित रहने से राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने इनकार कर दिया है.

राज्य सभा में जदयू सांसद शरद यादव ने राज्यसभा में इस कार्यक्रम का मुद्दा उठाया. सीपीएम सांसद सीताराम येचुरी ने प्रश्न किया कि आर्ट ऑफ लिविंग, श्री श्री रविशंकर का निजी संस्था है फिर इस के सेना ने काम क्यों किया. वहीं सरकार की ओर से सांसद मुख्‍तार अब्बास नकवी ने इस कार्यक्रम का पक्ष लिया. नकवी ने कहा कि कार्यक्रम को लेकर सभी नियमों और कानूनों का पालन किया गया है. एनजीटी में इस कार्यक्रम के संबंध में सुनवाई जारी है. श्री श्री रवि शंकर पर्यावरण की रक्षा के प्रति प्रतिबद्ध हैं. उनके विरोध में आवाज उठाकर प्रकृति के प्रति उनकी प्रतिबद्धता पर शक करना होगा जो गलत है.

Art of Living-2

आर्ट ऑफ लिविंग के इस कार्यक्रम पर कांग्रेस सांसद गुलाम नबी आजाद ने भी सेना की मदद का मुद्दा उठाया और कार्यक्रम में पीपा पुल बनाने पर सवाल किया. गौरतलब है कि एनजीटी ने केंद्र सरकार से प्रश्‍न किया है कि यमुना किनारे किसी भी अस्थायी ढांचे को बनाने के लिए इन्वायरन्मेंटल क्लियरेंस की ज़रूरत क्यों नहीं है? तीन दिन चलने वाले इस कार्यक्रम को एनजीटी में चुनौती दी गयी है जिसपर आज फैसला आना है.

Art of Living-3
इस कार्यक्रम के लिए सेना ने 24 घंटे में पीपा पुल का निर्माण किया है. सूत्रों के अनुसार पहले सेना ने इस पुल के निर्माण से मना कर दिया था. सेना की ओर से कहा गया था कि यह एक सिविल कार्यक्रम है. बताया जा रहा है कि रक्षामंत्री मनोहर पार्रिकर के निर्देश पर यह पुल बनाया गया है. इस पूरे मामले में मनोहर पर्रिकर ने बयान देकर कहा कि कार्यक्रम में उमड़ने वाली भारी भीड़ को देखते हुए सेना की मदद ली जा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: