उल्फा पुनः सक्रीय, तिनसुकिया में निशाने पर हिंदी भाषी

तिनसुकिया  

राज्य में उल्फा पुनः सक्रीय हो उठा है और इस बार फिर उसने हिंदी भाषियों को निशाना बनाया। बीती रात उग्रवादियों ने तिनसुकिया में अंधाधुंध गोलीबारी की जिसमें 2 लोग मारे गए जबकि 7 अन्य घायल हो गए।

स्वतंत्रता दिवस से पूर्व एक के बाद एक हिंसक वारदातों को अंजाम दिया जा रहा है। इस गोलीबारी की घटना में एक ही परिवार के राजेश शाह और किशोरी शाह नामक दो लोग मारे गए। यह वारदात उस वक्त हुई जब फिलोबाड़ी पुलिस थाना के अंतर्गत बामुनबाड़ी गांव में महेंद्र शाह नामक एक हिंदी भाषी व्यवसायी के घर के आँगन में कीर्तन चल रहा था|

शाम को करीब 7.30 बजे हुई घटना के समय वहां काफी लोग मौजूद थे| उसी दौरान उल्फा के वार्ताविरोधी गुट के 5-6 सदस्य मौके पर पहुंचे और अंधाधुंध गोलियां बरसानी शुरू कर दी| इस गोलीबारी में एक ही परिवार के दो लोग मारे गए| 7 अन्य लोग घायल हुए है जिनका गंभीर हालत में अस्पताल में इलाज चल रहा है|

खुफिया सूत्रों की जानकारी के मुताबिक स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर हिंसक वारदात को अंजाम देने की फिराक में उल्फा के वार्ताविरोधी गुट के सदस्य तिनसुकिया जिले में सक्रीय है|

इधर उल्फा के वार्ताविरोधी गुट ने सदिया जिला परिषद के उपाध्यक्ष के पुत्र का अपहरण कर सदिया के विधायक से 1 करोड़ रुपयों की फिरौती मांगी है| इस तरह उल्फा अपनी उपस्थिति दर्ज कराने की कोशिश में जुटा है|

वहीँ कल हिंदी भाषियों पर हुए इस हमले के पीछे उल्फा का हाथ होने का संदेह इस आधार पर जताया गया है कि पिछले 20-25 सालों में जिले में हिंदी-भाषियों पर इस तरह के हमले का इतिहास रहा है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: