कुलदीप मोरान को रिहा करे, उल्फा का उल्फा(आई) से अपील

तिनसुकिया

एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर उल्फा ने उल्फा(आई) से अपहृत कुलदीप मोरान को रिहा करने का अपील किया है साथ ही असम की नई सरकार को भी असम विरोधी गतिविधियों से दूर रहने की चेतावनी दी है|

बीते 1 अगस्त को तिनसुकिया जिले के काकोपथार गंधेगुड़ी गांव के निवासी रत्नेश्वर मोरान के पुत्र कुलदीप मोरान का अरुणाचल प्रदेश के चांगलांग जिले के जयरामपुर स्थित लुम्बी बस्ती से अपहरण कर लिया गया था| उल्फा स्वाधीन ने अपहरण कांड की बात स्वीकारी है साथ ही संगठन द्वारा युवक की रिहाई के नाम पर मांगी गई फिरौती के संदर्भ में भी अपनी स्थिति स्पष्ट की है| उल्फा ने कहा है कि उल्फा(आई) ने पैसों के बावत युवक का अपहरण नहीं करने की जो घोषणा की है उसके लिए हम उन्हें धन्यवाद देते है| उल्फा ने उल्फा(आई) से सुरक्षा बल के खबरी होने के आरोप में पकड़े गए कुलदीप को आखरी बार के लिए चेतावनी देकर रिहा कर देने का आह्वान किया है| साथ ही कहा है कि एक युवक होने के नाते और अपनी संतान मानकर सुधरने का आखरी मौका देकर कुलदीप को रिहा कर देने से असम की जनता भी उल्फा(आई) को धन्यवाद देगी, यह हमारा दृढ़ विश्वास है|

यह भी पढ़ें- कुलदीप मोरान सुरक्षा बलों का इनफॉर्मर- परेश बरुआ

उल्फा ने दिसपुर की नई सरकार को भी असम विरोधी गतिविधि से दूर रहने की चेतावनी देते हुए कहा है कि असमिया जाति की रक्षा करने का वादा कर सत्ता में आई  बीजेपी सरकार ने दिसपुर की गद्दी पर कब्जा करने के बाद  हिंदू बांग्लादेशियों को असम में शरण देने का जो षड्यंत्र रचा है हमारा संगठन उसका तीव्र विरोध करता है| उल्फा ने स्पष्ट कर दिया है कि विदेशियों को किसी भी सूरत में राज्य में ग्रहण नहीं किया जाएगा साथ ही चेतावनी दी है कि अगर भविष्य में इस वजह से कोई भी परिस्थिति उत्पन्न हुई तो इसकी जिम्मेदार केंद्र सरकार होगी|

उल्फा ने साथ ही असम सरकार को चेतावनी देते हुए कहा है कि मूल्यवृद्धि पर लगाम कसने के वादे के साथ सत्ता में आई सरकार महज व्यवासियों के हित में काम कर रही है| आम लोगों के हितों से मुंह फेरकर व्यवसायियों के हित सुरक्षित करने वाली सरकार असम की सरकार नहीं हो सकती | इसलिए अगर इस सरकार ने जल्द से जल्द असम विरोधी गतिविधि और जनता विरोधी गतिविधि नहीं रोकी तो परिणाम भुगतने को तैयार रहे|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: