तवांग में मिले दो भाई, हिन्दी और चीनी

News desk/ nesamachar.in

चीन के राष्ट्रीय दिवस के अवसर पर अरुणाचल प्रदेश के तवांग जिले में भारत और चीन के सीमाकर्मियों की औपचारिक बैठक हुई। लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर दोनों देशों के बीच टकराव के हफ्तों बाद यह बैठक हुई। रक्षा विभाग की एक विज्ञप्ति में आज कहा गया है कि भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व तवांग ब्रिगेड के कमांडर ब्रिगेडियर डी एस कुशवाह ने किया। चीन के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व तसोना दजांग गैरिसन के कमांडर कर्नल तंग फू चेंग ने किया।

बयान में कहा गया है कि बैठक में भारत और चीन के राष्ट्रीय ध्वज फहराये गये। इसके बाद दोनों प्रतिनिधिमंडल के नेताओं ने कार्यक्रम को संबोधित किया। इसके बाद जीवंत संस्कृतियों को प्रदर्शित करने वाला एक कार्यक्रम हुआ। इस कार्यक्रम से दोनों देशों के बीच संबंध को मजबूत बनाये रखने और उसे बेहतर करने की आपसी इच्छाशक्ति परिलक्षित होती है। दोनों प्रतिनिधिमंडलों की बातचीत सौहार्दपूर्ण वातावरण में हुई। वास्तविक नियंत्रण रेखा पर मौजूदा सौहार्दपूर्ण संबंध को बढ़ाने और शांति बनाए रखने की कटिबद्धता और आपसी मेलजोल की भावना तो थी लेकिन दोनों प्रतिनिधिमंडलों के रूख भिन्न थे। चीनी राष्ट्रीय दिवस की 67 वीं वषर्गांठ पर कुछ इसी तरह का कार्यक्रम पूर्वी लद्दाख के चुशूल और दौलत बेग ओल्डी में कल संपन्न हुआ। विज्ञप्ति में कहा गया है कि एक अक्तूबर को चीनी राष्ट्रीय दिवस पर चीन की सेना हर साल काफी उत्साह के साथ सीमाकर्मियों के साथ बैठक करती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: