त्रिपुरा: CM बिप्लब देब को ड्रग पेडलर्स से जान का ख़तरा-बीजेपी

त्रिपुरा बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं का कहना है कि म्यांमार के ड्रग्स पेडलर ने त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब की हत्या की साजिश रची है.  


अगरतला 

राज्य के  वरिष्ठ पार्टी नेता और पूर्व मंत्री रतन चक्रवर्ती ने एक प्रेस कांफ्रेंस कर बताया कि “केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह को कुछ रिपोर्ट मिली हैं जिसके अनुसार, हाल ही में ड्रग पेडलर्स ने एक मीटिंग में बिप्लब देब को मारने का षड्यंत्र रचा है”.

रतन चक्रवर्ती ने बताया कि, ‘गृहमंत्री के पास ऐसी कई रिपोर्ट्स हैं जिसके अनुसार म्यांमार में ड्रग पेडलर्स त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब को जान से मार देने  की साजिश रच रहे हैं.’

उन्हों ने यह भी कहा कि ” पार्टी सूत्रों से भी हमें ये रिपोर्ट्स मिली है. गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने हमारी पार्टी नेताओं को इस बारे में सूचित भी किया है’.

उन्होंने आगे कहा कि जब से त्रिपुरा में बीजेपी- आईपीएफटी की सरकार बनी है, इलाके में सक्रिय ड्रग सप्लाइ करने वाले समूहों पर कड़ी कार्रवाई हुई है जिस से म्यांमार के ड्रग पेडलर खुश नहीं हैं.

पिछले 6 महीनों में त्रिपुरा पुलिस ने 50 हजार से ज्यादा नशीले पदार्थ जब्त किए हैं जिसमें गांजा, हेरोइन, ब्राउन शुगर वगैरह शामिल हैं.  इस मामले में 120 से ज्यादा लोगों की गिरफ्तारी भी हुई.  रतन चक्रवर्ती ने बताया  कि कार्रवाई होने की वजह से ड्रग पेडलर अब पहले की तरह व्यापार नहीं कर पा रहे हैं इसलिए वह डरे हुए हैं.  हमने गृह मंत्रालय को इस मामले में उचित कदम उठाने की सलाह दी है.

सीएम बिप्लब देब की सुरक्षा व्यवस्था में किसी भी स्थिति में सेंध न लग पाए इसे सुनिश्चित करने के लिए बीजेपी कार्यकर्ताओं को भी निर्देश दिए गए हैं,  ताकि किसी भी अनहोनी को टाला जा सके.

बता दें कि ड्रग सप्लायर्स को हटाना बिप्लब देब सरकार का मुख्य अजेंडा था जिसे उन्होंने पूर्व सीपीआई (एम) सरकार के खिलाफ चुनाव प्रचार में आधार बनाया था.  इसके लिए उन्होंने प्रचार के दौरान ‘नशा मुक्त त्रिपुरा’ का नारा दिया था.

उन्होंने दावा किया था कि राज्य में ड्रग बेस्ड इकॉनमी 1500 करोड़ रुपये तक हो गई है और ज्यादातर ड्रगों की बांग्लादेश में तस्करी की जाती है.  इन पर कानूनी कार्रवाई से भारत-बांग्लादेश के रिश्तों को बढ़ावा मिलेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: