पेंगेरी घटना को लेकर तिनसुकिया में माहौल उत्तेजित, जिला बंद के दौरान हिंसा

तिनसुकिया

तिनसुकिया के पेंगेरी की घटना को लेकर माहौल आज भी उत्तेजित बना हुआ है। आज दल-संगठनों ने घटना के विरोध में जिला बंद का आह्वान किया। आदिवासी संगठन आसा के हजारों कार्यकर्त्ता सड़क पर उतर आए। हाथों में लाठी आदि लेकर निकले बंद समर्थकों ने व्यावसायिक प्रतिष्ठानों में लूटपाट मचाई साथ ही कई वाहनों में तोड़-फोड़ की। मार्घेरिटा में लोगों ने राष्ट्रीय राजमार्ग का अवरोध किया। बंद समर्थकों ने जबरदस्ती बाजार बंद करवाने की भी कोशिश की। हालांकि स्थानीय लोग बंद समर्थकों के साथ भीड़ गए जिससे माहौल और उत्तेजित हो गया।

           tinsukis-violence-2     tinsukis-violence-4

इस बीच घटना के पीड़ितों की सुध लेने प्रदेश बीजेपी के अध्यक्ष सर्वानंद सोनोवाल सुबह तिनसुकिया पहुंचे।

आट्सा ने पेंगेरी घटना के पीछे राजनीतिक षडयंत्र का विस्फोटक आरोप लगाया है। साथ ही आट्सा का आरोप है कि कुछ लोगों को शराब पिलाकर विरोध प्रदर्शन करने पर उकसाया गया।

कल पेंगेरी में चाय श्रमिकों के प्रदर्शन के दौरान ही दुर्भाग्यजनक घटना में 11 लोगों की मौत हो गई थी। यह घटना सुबह करीब 10 बजे हुई जब 3000 से अधिक प्रदर्शनकारियों ने पेंगेरी पुलिस थाने को घेरकर हत्याकांड के सिलसिले में पुलिस द्वारा गिरफ्तार 5 लोगों को उनके हवाले करने की मांग की।

         tinsukis-violence-3     tinsukis-violence-5

इन आरोपियों ने बीते बुधवार को चाय बागान के एक ही परिवार के दो लोगों की अपहरण के बाद हत्या कर दी थी। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को वापस चले जाने को कहा तो भीड़ ने पुलिस थाने पर पथराव किया। भीड़ पर काबू पाने के लिए पुलिस को हवा में गोलियां चलानी पड़ी। इस दौरान एक व्यक्ति की पुलिस की गोलीबारी में मौत हो गयी जबकि 10 लोग दुर्भाग्यजनक रूप से गोली हाई वोल्टेज बिजली के तार में लगकर तार के गिर जाने से मारे गए। वहीँ करीब 20 लोग घायल हो गए। घटना के बाद से अभी भी कुछ लोग लापता बताए जा रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: