MP-टायर और प्लास्टिक के कचरे से गरीब ने जलाई पत्नी की चिता

गरीबी की इन्तेहा हो गई, इंसानियत शर्मसार हो गयी, और सरकार अंधी- बहरी बनी सोती रही, जब गरीब जगदीश के पास अपनी पत्नी की चिता जलाने के लिए लकड़ी खरीदने के पैसे नहीं थे और मजबूरन उस ने टायर और प्लास्टिक के कचरे से अपनी पत्नी की चिता जलाई और अंतिम संस्कार किया.

Read more