टी-20 सीरीज, इतिहास रचते हुए टीम इंडिया ने 3-0 से जीती सीरीज

सिडनी

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टी-20 सीरीज का तीसरा और आखिरी मैच सिडनी में खेला गया। ऑस्ट्रेलिया को 7 विकेट से हरा कर टी-20 सीरीज में टीम इंडिया ने इतिहास रचते हुए 3-0 से सीरीज पर कब्जा कर लिया। टीम इंडिया टी-20 रैंकिंग में नंबर वन बन गई है। खास बात यह कि वह पहले आठवें नंबर पर थी।

शेन वाटसन के तूफानी शतक की बदौलत ऑस्ट्रेलिया ने निर्धारित 20 ओवर में 5 विकेट के नुकसान पर 197 रन बनाए। वहीं टीम इंडिया ने लक्ष्य का पीछा करते हुए निर्धारित 20 ओवर में 3 विकेट खोकर जीत हासिल कर ली। सुरेश रैना 25 गेंदों में 49 रन और युवराज सिंह 12 गेंदों में 15 रन बनाकर नाबाद रहे। यह मैच रोमांचक रहा और अंतिम गेंद पर खत्म हुआ।

Team India-1इस जीत के साथ ही जहां टीम इंडिया ने वनडे सीरीज में हार का हिसाब पूरा कर लिया वहीं आईसीसी की टी-20 और टेस्ट रैंकिंग में नंबर वन पोजिशन पर पहुंच गई हैं। 140 साल के इतिहास में यह पहला मौका है जब ऑस्ट्रेलियाई टीम अपनी सरजमीं पर किसी भी सीरीज में सभी मैच हारी है।

ऑस्ट्रेलिया से जीत के लिए मिले 198 रनों के लक्ष्य का पीछा करने शिखर धवन और रोहित शर्मा उतरे। शिखर धवन ने आक्रामक रूख अख्तियार करते हुए करारे शॉट लगाए लेकिन वो ज्यादा देर तक क्रीज पर टिक नहीं सके और चौथे ओवर की दूसरी गेंद पर वाटसन ने विकेटकीपर कैमरन बेनक्रॉप्ट के हाथों कैच कराकर पवेलियन भेज दिया। धवन ने 9 गेंदों का सामना किया और 4 चौके और 1 छक्के की मदद से 26 रन बनाए। धवन के बाद रोहित का साथ देने के लिए विराट कोहली आए। दोनों बल्लेबाजों ने ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों की धुनाई करते हुए टीम के स्कोर को 12.3 ओवर में 124 रनों तक ले जा सके थे कि रोहित शर्मा अर्धशतक जड़ने के बाद चलते बने। रोहित शर्मा ने 38 गेंद में 52 रन रन बनाए और 5 चौका, 1 छक्का लगाया।

रोहित शर्मा के आउट होने के बाद विराट कोहली का साथ देने के लिए सुरेश रैना आए। लेकिन कोहली 36 गेंद में 2 चौके और 1 छक्के की मदद से अर्धशतक (50) जड़ सके थे कि 14.5वें ओवर में कैमरन बेयोंस की गेंद पर बोल्ड हो गए। कोहली के बाद सुरेश रैना का साथ देने के लिए युवराज सिंह आए। दोनों बल्लेबाज तेजी से रन जुटाते हुए टीम के स्कोर को रोमांचक दौर में पहुंचा दिया। दोनों ने भारतीय पारी के आखिरी ओवर करने आए एंड्रयू तई के ओवर में 19 रन बटोर कर टीम इंडिया को 7 विकेट से जीत दिला दी।

युवराज सिंह ने 12 गेंदों में 1 चौके और 1 छक्के की मदद से नाबाद 15 रन जबकि सुरेश रैना ने 25 गेंदों में 6 चौके और 1 छक्के की मदद से 49 रन बनाए। ऑस्ट्रेलिया की ओर से कैमरन बोयेंस ने 2 जबकि शेन वाटसन ने 1 विकेट चटकाए।

Team India-2इससे पहले टीम इंडिया से टॉस जीतकर ऑस्ट्रेलिया की ओर से सलामी बल्लेबाज के तौर पर उस्मान ख्वाजा और शेन वाटसन उतरे। लेकिन 2.2वें ओवर में ख्वाजा (14 रन, 6गेंद) आशीष नेहरा की गेंद पर विकेट के पीछे कैच हो गए।

ख्वाजा के बाद बैटिंग के लिए शॉन मार्श और ग्लेन मैक्सवेल को भी भारतीय गेंदबाजों ने जल्द पवेलियन भेज दिया। जल्द-जल्द दो जल्द विकेट गंवाने के बाद शेन वाटसन ने ट्राविस हीड के साथ मिलकर भारतीयों की जमकर धुनाई करते हुए तूफानी शतक जड़ डाला।

हालांकि वाटसन के शतक जड़ने के बाद ट्रविस हीड 17वें ओवर की आखिरी गेंद पर रविंद्र जडेजा की गेंद पर बोल्ड हो गए। हीड ने 19 गेंदों का सामना करते हुए 1 चौके और 1छक्के की मदद से 26 रन बनाए।

हीड के बाद क्रिस लिन बैटिंग के लिए रिकॉर्ड शतकधारी वाटसन का साथ देने के लिए क्रीज पर आए। लेकिन वाटसन के बैट से भारतीय गेंदबाजों को राहत नहीं मिली। दोनों बल्लेबाजों ऑस्ट्रेलियाई स्कोर को 193 रनों तक ले जा सके थे कि 19.4वें ओवर में लिन 9 गेंद में 2 चौकी की मदद से 13 रन बनाकर बुमराह की गेंद पर रविंद्र जडेजा को कैच थमा बैठे।

ऑस्ट्रेलियाई पारी की आखिरी ओवर की दो गेंदों को खेलने के लिए कैमरन बैनक्रॉफ्ट आए लेकिन वाटसन ने बाकि दो गेंदों पर दो-दो रन चुराकर ऑस्ट्रेलियाई टीम के स्कोर को 5 विकेट के नुकसान पर 197 रनों तक पहुंचाया। वाटसन ने 74 गेंदों का समाना किया और 10 चौके और 6 छक्कों की मदद से नाबाद 124 रन बनाए।

टीम इंडिया की ओर से आशीष नेहरा, जसप्रीत बुमराह, रविचंद्रन अश्विन, रविंद्र जडेजा और युवराज सिंह ने 1-1 विकेट झटके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: