BREAKINGNORTHEAST

BREAKING- सिक्किम: चामलिंग की पार्टी  SDF के 10  विधायक BJP में शामिल

BIG BREAKING – नई दिल्ली में मंगलवार को भाजपा मुख्यालय में पार्टी महासचिव राम माधव की उपस्थिति में एसडीएफ के 10 विधायक भाजपा में शामिल हुए। 


गंगटोक

सिक्किम की राजनीति में मंगलवार को बड़ा उलटफेर देखने को मिला जब पूर्व मुख्यमंत्री पवन चामलिंग की पार्टी सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट (SDF ) के 10 विधायक भारतीय जनता पार्टी (BJP) में शामिल हो गए।

नई दिल्ली में मंगलवार को भाजपा मुख्यालय में पार्टी महासचिव राम माधव की उपस्थिति में एसडीएफ के 10 विधायक भाजपा में शामिल हुए। इनमें विधायक दोरजी शेरिंग लेप्चा के अलावा डी आर थापा, कर्मा सोनेम लेप्चा, के बी राय, टी टी भूटिया, फरमंती तमांग, पिंटो नामग्याल लेप्चा, राम कुमारी थापा आदि शामिल हैं।

सिक्किम के इन विधायकों का पार्टी में स्वागत करते हुए भाजपा महासचिव राम माधव ने संवाददाताओं से कहा कि सिक्किम में पिछले 25 वर्षों से सत्ता में रहे एसडीएफ को इस बार के विधानसभा चुनाव में 15 सीटों पर विजय मिली। इनमें से दो व्यक्ति दो दो सीटों पर विजयी हुए थे। इस प्रकार से सीटों की प्रभावी संख्या 13 थी।

उन्होंने कहा कि इनमें से 10 विधायकों ने भाजपा में शामिल होने का निर्णय किया। इस विषय पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के मार्गदर्शन और कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा के दिशानिर्देशन में इन विधायकों को भाजपा में शामिल किया गया है। अब सिक्किम में भाजपा सकारात्मक विपक्ष की भूमिका निभाएगी।

एसडीएफ से भाजपा में शामिल हुए वरिष्ठ विधायक दोरजी शेरिंग लेप्चा ने कहा कि आज 10 विधायक भाजपा में शामिल हुए हैं और इसके लिए हम पूरी टीम की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा के प्रति आभार प्रकट करते हैं।

गौरतलब है कि पवन कुमार चामलिंग की पार्टी सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट (एसडीएफ) राज्य में करीब ढाई दशकों तक सत्तासीन थी। पिछले विधानसभा चुनाव में उसे पराजय का सामना करना पड़ा था । बता दें इस बार हुए विधानसभा चुनाव में 25 साल से सत्ता में काबिज पवन कुमार चामलिंग की पार्टी को हार नसीब हुई। वहीं मुख्य विपक्षी पार्टी सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा (एसकेएम) ने जीत हासिल की। चामलिंग की एसडीएफ पार्टी ने 32 में से 15 सीट हासिल कीं। जबकि 2013 में अस्तित्व में आए एसकेएम ने 17 सीटें हासिल की हैं। बहुमत के लिए भी 17 सीटें ही चाहिए थी।

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close