सिक्किम: भूख से 300 याकों की मौत

सरकारी सूत्रों के अनुसार मेडिकल टीम को जीवित याकों को बचाने का काम सौंप दिया गया है। प्रभावित परिवारों को मुआवजा दिया जाएगा।


गंगटोक

अपनी खूबसूरती और याकों सफारी के लिए मशहूर सिक्किम से एक बेहद दर्दनाक आंकड़ा सामने आया है। हाल ही में जारी किए आंकड़ों के मुताबिक उत्तरी सिक्किम जिले में भारी बर्फबारी के बाद पिछले साल के अंत से करीब 300 याकों की भूख की वजह से मौत हुई है। मेडिकल टीम को जीवित याकों को बचाने का काम सौंप दिया गया है। प्रभावित परिवारों को मुआवजा दिया जाएगा।

जिला मजिस्ट्रेट राज यादव ने दिसंबर 2018 से मुकुथांग और युमथांग में भारी बर्फबारी की वजह से भूख के कारण करीब 300 याकों की मौत की पुष्टि की। यादव ने शनिवार को बताया कि मुकुथांग क्षेत्र से हाल में 250 याकों के शव मिले और युमथांग से 50 याकों के शव बरामद हुए हैं। उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि इन याकों को पिछले साल दिसंबर से लंबे वक्त तक हुई बर्फबारी के दौरान खाने को कुछ नहीं मिला।

उन्होंने कहा कि पशुपालन विभाग की मेडिकल टीम मुकुथांग पहुंच गई है। यादव ने बताया कि टीम जीवित याकों के लिए चारा लेकर गई है। मेडिकल टीम याकों का परीक्षण भी करेगी। उन्होंने बताया कि याक मुकुथांग के 15 और युमथांग के 10 परिवारों के थे। जिला प्रशासन और भारत-तिब्बत सीमा पुलिस प्रभावित परिवारों की सूची तैयार कर रही है। उसके आधार पर मुआवजा दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: