नदी द्वीप माजुली की रक्षा- मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल के समक्ष बड़ी चुनौती

गुवाहटी

विश्व के सबसे बड़े नदी द्वीप माजुली के अस्तित्व की रक्षा करने की माजुली के विधायक तथा मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल के समक्ष बड़ी चुनौती है| ऐसे में मुख्यमंत्री ने माजुली को विक्सित जिला के रूप में स्थापित करने तथा बाढ़ एवं भूकटाव सहित अन्य मुलभूत समस्याओं के स्थाई समाधान के लिए ब्रह्मपुत्र बोर्ड, जल संसाधन, लोकनिर्माण, स्वास्थ्य एवं सांस्कृतिक विभाग को कड़ा निर्देश दिया है|

majuli-1सोमवार को दिसपुर में एक समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री सोनोवाल ने कहा कि माजुली को विक्सित जिला के रूप में तब्दील करने की प्रक्रिया में कोई कोताही नहीं सही जाएगी| उन्होंने सभी अधिकारियों से पूति निष्ठा और समर्पण से अपनी जिम्मेदारियां निभाने पर जोर दिया|

मुख्यमंत्री ने बैठक में उपस्थित विभिन्न छात्र संगठनों के प्रतिनिधियों, नागरिक समाज तथा पत्रकारों के समक्ष कहा कि ब्रह्मपुत्र बोर्ड और जल संसाधन विभाग को बाढ़ एवं भूकटाव प्रबंधन से संबंधित कार्यों को आपसी सहयोग के साथ अंजाम देना होगा|

मुख्यमंत्री ने जलसंसाधन विभाग के आयुक्त हेमंत नर्जारी को अपने विभाग तथा ब्रह्मपुत्र बोर्ड के अधिकारियों के साथ माजुली में बाढ़ एवं भूकटाव से संबंधित कार्यों की प्रगति का जायजा लेने के लिए 14 दिसंबर को माजुली जाने का निर्देश दिया| सोनोवाल ने माजुली के जिला उपायुक्त के नेतृत्व में वहां के स्थानीय विभिन्न संगठनों एवं नागरिक समाज के प्रतिनिधियों को लेकर एक कमिटी के गठन का भी प्रस्ताव रखा है| यह कमिटी हर 15 दिनों में योजनाओं की प्रगति की समीक्षा करेगी|

इस दौरान मुख्यमंत्री ने जलसंसाधन विभाग और ब्रह्मपुत्र बोर्ड को कड़ा निर्देश दिया कि जो ठेकेदार तय समय के भीतर कार्य संपन्न नहीं कर पाएगा और निम्न स्तर का काम करेगा उसे ब्लैकलिस्टेड किया जाए|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: