रॉकीबुल हसैन के घर में छापेमारी, राजनीतिक षड़यंत्र का आरोप

गुवाहाटी

कल मंत्री रॉकीबुल हुसैन के घर पर चुनाव आयोग ने छापेमारी की थी। हालांकि शाम 5.30 बजे से रात 2.30 बजे तक तकरीबन 9 घंटे चले इस तलाशी अभियान के बावजूद यह स्पष्ट नहीं हो पाया कि छापेमारी आयकर विभाग की ओर से की गई या इलेक्शन एक्सपेंडिचर आब्जर्वर द्वारा। मंत्री के घर और वाहन में तलाशी के दौरान कुछ बरामद नहीं हुआ। यहाँ तक कि चुनाव से पूर्व किस उद्देश्य से यह छापेमारी की गई वह भी स्पष्ट नहीं किया गया।

बगैर नोटिस के चलाए गए इस छापेमारी से नाराज मंत्री रॉकीबुल हुसैन ने इसे राजनीतिक षड्यंत्र बताया है। उनका कहना है कि कांग्रेस और उनकी छवि धुमिल करने के लिए इस षड्यंत्र को अंजाम दिया गया है। हैरानी की बात यह भी है कि तलाशी चलाने आए दल ने चोरी की गाड़ी इस्तमाल की। मंत्री रॉकीबुल हुसैन ने इसे मानहानि का मामला बताते हुए इस सिलसिले में दिसपुर थाना में एक केस दर्ज कराया है।

इधर मंत्री के घर रात को हुई छापेमारी के खिलाफ ऊपरी असम में तीव्र विरोध देखा जा रहा है। प्रदर्शनकारी अल्पसंख्यक नेता के खिलाफ राजनीतिक साजिश का आरोप लगा रहे है।

वहीँ बीजेपी नेता डॉ. हिमंत विश्व शर्मा ने मंत्री रॉकीबुल हुसैन द्वारा राजनीतिक षड्यंत्र की बात पर प्रतिक्रिया जताते हुए कहा है कि यह चुनाव का समय है इसलिए चुनाव आयोग कहीं भी छापेमारी करवा सकता है। इसमें हैरानी की कोई बात नहीं है।

मंत्री रॉकीबुल हुसैन के घर पर छापेमारी के मामले को गंभीरता से लेते हुए मुख्यमंत्री तरुण गोगोई ने आज एक प्रेस कांफ्रेंस कर बीजेपी पर राजनीतिक षड्यंत्र का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को नुकसान पहुँचाने के लिए चुनाव पूर्व यह राजनीतिक साजिश रची गई है। किसी के भी घर चुनाव आयोग छापेमारी कर सकता है पर जिस ढंग से यह छापेमारी की गई उसकी हम निंदा करते है।

इधर कल रात स्प्रिंग वैली रिसोर्ट में एआईयू डीएफ अध्यक्ष बदरुद्दीन अजमल के कमरे और वाहन में भी तलाशी अभियान चलाया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: