असम: NRC का विरोध अमरीका में भी

 

न्यूज़ डेस्क

असम में राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) का ड्राफ्ट जारी होने के बाद जहां देश में राजनीतिक घमासान मचा हुआ है वहीं अमरीका में भी इसका विरोध होने लगा है.

दरअसल, भारतवंशी अमरीकी मुस्लिमों के एक समूह ने असम में NRC को तत्काल खारिज करने की मांग की है.   समूह का कहना है कि जब तक रजिस्ट्रेशन में बरती गई अनियमितताओं को दूर नहीं किया जाता है तब तक के लिए उसे खारिज कर दिया जाए.

समूह के अनुसार, अनियमितताओं के कारण ही 40 लाख लोगों को ड्राफ्ट में शामिल नहीं किया जा सका है.   इंडियन अमरीकन मुस्लिम काउंसिल (IAMC) ने एक प्रेस  रिलीज जारी कर कहा है कि, “असम में मत्ताधिकार से वंचित रहने वालों में सबसे ज्यादा वहां निवास करने वाले बांग्ला भाषी मुस्लिम समुदाय प्रभावित हुआ है. इनपर घुसपैठिया होने का आरोप लगाया जाता है जबकि ये लोग भारतीय नागरिक हैं.

” संगठन ने कहा कि नागरिकता खोने के खतरे का सामना करने वालों में भारत के पूर्व राष्ट्रपति फखरुद्दीन अली अहमद के रिश्तेदार भी शामिल हैं”.  आईएएमसी के प्रेसिडेंट अहसान खान ने कहा, “दरअसल, यह लोकतंत्र को नष्ट करने की कवायद है और साफतौर से यह पक्षपात और भेदभावपूर्ण एजेंडा है। इस वजह से भारत के पूर्व राष्ट्रपति के रिश्तेदारों को भी ड्राफ्ट से अलग रखा गया है.  “

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: