पीएम मोदी का पाकिस्तान यात्रा – कहीं स्वागत तो कहीं विरोध

 नई दिल्ली

शुक्रवार को भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सबको चौंकाते हुए काबुल से लौटते वक्त पाकिस्तान में उतरे। मोदी ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से मुलाकात की। पिछले एक दशक में किसी भी भारतीय प्रधानमंत्री की यह पहली पाकिस्तान यात्रा थी। पीएम मोदी का पाकिस्तना यात्रा का दोनों देशों में कहीं विरोध तो कहीं स्वागत हुआ है । अफगानिस्तान से दिल्ली उड़ान भरने के ठीक एक घंटे पहले मोदी से पाकिस्तान आने का अनुरोध किया गया था। मोदी की इस यात्रा से दोनों परमाणु हथियारों से लैस पड़ोसियों के बीच संवाद बहाल होने की उम्मीद बढ़ गई है।

65 सालों की शत्रुता में दोनों देशों के बीच तीन युद्ध हो चुके हैं। 12 साल बाद भारत का कोई पीएम पाकिस्तान गया है। पिछली बार अटल बिहारी वाजपेयी जनवरी 2004 में पाकिस्तान गए थे।  वाजपेयी के बाद पीएम बने मनमोहन सिंह ने पाकिस्तान का दौरा नहीं किया। मोदी से पहले जवाहर लाल नेहरू (दो बार), राजीव गांधी (दो बार) और अटल बिहारी वाजपेयी (दो बार) पाकिस्तान जा चुके हैं।

दिल्ली लौट कर मोदी ने क्या किया ट्वीट कर बताया कि  ”शरीफ के पुश्तैनी घर पर उनकी फैमिली के साथ एक अच्छी शाम बिताई। नवाज साहब के बर्थडे और नातिन की शादी ने इसे दोगुना सेलिब्रेशन बना दिया।” ‘अटलजी को लेकर शरीफ साहब का लगाव बहुत ही टचिंग रहा। उन्होंने अपनी पुरानी यादें साझा की और मुझसे अटलजी को शुभकामनाएं देने को कहा। ” ”लाहौर एयरपोर्ट पर मेरा स्वागत करने और विदा करने आए नवाज शरीफ साहब की गर्मजोशी मुझे छू गई।”

PM Modi in Lahore

मोदी के पकिस्तान दौरे का कहीं विरोध तो कहीं स्वागत भी हुआ. पढ़िए किस ने किया कहा-

  • पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता आनंद शर्मा ने आरोप लगाया है कि प्रधानमंत्री की पाकिस्तान यात्रा पूर्वनियोजित थी और मोदी ने देश को इस बारे में अंधेरे में रखा।
  • वरिष्ठ कांग्रेसी नेता शकील अहमद ने ट्वीट किया, “पाकिस्तान की यात्रा के लिए किसी को प्रधानमंत्री मोदी की आलोचना नहीं करनी चाहिए. नवाज़ शरीफ़ रिटर्न गिफ़्ट के तौर पर मोदी के विमान में हाफ़िज़ सईद और दाऊद इब्राहिम को भी लाद सकते हैं.”।
  • कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने मोदी की पाक यात्रा पर कहा, “नरेंद्र मोदी की इस रोमांचक यात्रा के भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए गंभीर परिणाम होंगे. यदि यह फ़ैसला पहले लिया हुआ नहीं है तो यह बहुत ही मज़ाकिया है।”
  • एनडीए सरकार में शामिल लोक जनशक्ति पार्टी के नेता रामविलास पासवान ने ट्वीट करते हुए कहा, “प्रधानमंत्री मोदीजी का पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के जन्मदिन एव नाति के विवाह पर शामिल होना उनकी राजनीति का शानदार नमूना है। पीएम मोदीजी की पाकिस्तान यात्रा से दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों मे मज़बूती आएगी।”
  • वहीं पाकिस्तान में भी नरेंद्र मोदी की यात्रा का विरोध हुआ है। जमात-ए-इस्लामी के नेता सिराज उल हक़ ने अपने समर्थकों के साथ लाहौर में विरोध प्रदर्शन किया है. उन्होंने ट्वीट किया, “हम वार्ता के विरोध में नहीं है लेकिन पाकिस्तान ये कैसे भूल सकता है कश्मीर, फाटा और बलोचिस्तान में भारतीय अत्याचार के पीछे मोदी ही हैं।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: