बाढ़ के बाद अब फसलों में कीड़े, असम के किसान मुश्किल में

गुवाहाटी

बाढ़ से बेहाल असम के किसानों की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही| बाढ़ से फसलों के नष्ट होने के बाद अब इन फसलों पर कीड़े लग गए है| राज्य के 35 में से 10 जिलों में फसलों पर इन कीड़ों ने हमला कर दिया है| परिस्थिति पर काबू पाने के लिए अब सर्वानंद सोनोवाल सरकार को प्रभावित जिलों में कृषि वैज्ञानिक भेजने पड़ रहे है|

इतने बड़े पैमाने पर फसलों पर कीड़ों का ऐसा हमला इससे पहले सन 1967 में सामने आया था| कृषि मंत्री अतुल बोरा ने कहा, “मौजूदा राज्य के 10 जिलों में ये कीड़े फसलों को नष्ट कर रहे है| करीब 17,480 हेक्टेयर कृषि भूमि क्षतिग्रस्त हुई है| बड़ी ही तेजी से ये कीड़े फैल रहे है|”

सबसे अधिक प्रभावित गोलाघाट जिला है जहाँ की 6,671 हेक्टेयर कृषि भूमि पर इन कीड़ों ने हमला किया है| अन्य प्रभावित जिलों में शिवसागर, जोरहाट, बरपेटा, माजुली, नॉर्थ लखीमपुर, कोकराझाड़, धुबड़ी, नलबाड़ी और डिब्रुगढ़ शामिल है|

मंत्री ने कहा, “आमतौर पर हर साल बाढ़ के बाद फसलों में कीड़े लगते है, लेकिन पिछले कई सालों में इतनी बड़ी संख्या में फसलों में कीड़े नहीं देखे गए थे| जिस रफ्तार से इनकी संख्या बढ़ रही है यह चिंता की बात है| हमने अपने अधिकारी और कृषि वैज्ञानिक प्रभावित जिलों में भेज दिए है| उम्मीद है शीघ्र ही परिस्थिति काबू में होगी| बाजार में दवाई उपलब्ध है और सरकार यह दवाईयां किसानों तक पहुंचाएगी|”

बहरहाल बाढ़ की मार झेलने के बाद अब असम के किसानों को कीड़ों की वजह से अपनी आँखों के सामने ही फसलों को नष्ट होते देखना पड़ रहा है| इस बीच सरकार से किसानों ने मुआवजे की मांग की है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: