पतंजली हर्बल फूड पार्क के निर्माण स्थल पर हादसा, गड्ढे में गिरने से हाथी की मौत

तेजपुर

असम में पतंजली हर्बल फूड पार्क के निर्माण स्थल पर गड्ढे में गिरने से एक जंगली हाथी की मौत हो गई है| हाथी की मौत के बाद असम सरकार ने इस संबंध में पुलिस में मामला दर्ज कराने का मन बनाया है| हालांकि एफआईआर इसके लिए जिम्मेदार अनजान लोगों के खिलाफ दर्ज कराई जाएगी|

तेजपुर के घोरामाड़ी में योग गुरु बाबा रामदेव के पतंजली यूनिट के निर्माण स्थल में एक खुले गड्ढे में बुधवार को एक नर हाथी, एक मादा हाथी और उसका बच्चा गिर गए थे| नर हाथी हालाँकि गड्ढे से बाहर आ गया था लेकिन मादा हाथी को अंदरूनी चोट आने और गिरने की वजह से टांग टूट जाने के चलते वह बाहर नहीं आ पाई| हाथी के 2 महीने का बच्चा भी गड्ढे में ही फंस गया|

हाथी और हाथी के बच्चे को गड्ढे से बाहर लाने की हर कोशिश नाकाम रही| आखिरकार बुधवार की रात मादा हाथी ने दम तोड़ दिया| इधर हाथी के बच्चे को गड्ढे से निकालकर काजीरंगा के एलीफैंट रिहैबिलिटेशन सेंटर में भेजा गया है|

वन मंत्री प्रमिला रानी ब्रह्म ने गुरुवार को घटनास्थल का दौरा करने के बाद कहा, “ कुछ ऐसा हुआ है जो नहीं होना चाहिए था| मैंने अपने विभाग को हाथी की मौत के पीछे वजह तलाशने के लिए पुलिस में मामला दर्ज कराने का निर्देश दिया है|

बता दें कि पतंजली हर्बल फूड पार्क के निर्माण स्थल में कई गड्ढे खोदे गए है लेकिन उन गड्ढों को नहीं घेरा गया है जिस वजह से यह दर्दनाक हादसा हुआ| ब्रह्म ने कहा, “मैंने सुना है कि यह इलाका जंगली हाथियों का विचरण स्थल है| अगर यह जानकारी होने के बावजूद पतंजली को यह जमीन आवंटित की गई है तो यह दुर्भाग्यजनक है| इस संबंध में सुरक्षित कदम उठाए जाने की आवश्यकता है|”

मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने इसी महीने की शुरुआत में 1000 करोड़ की इस परियोजना की नींव रखी थी| 150 एकड़ जमीन पर यह परियोजना स्थापित की जानी है| आगामी मार्च महीने से प्लांट का काम शुरू करने की योजना है और उम्मीद की जा रही है कि इससे राज्य के 5000 बेरोजगारों को रोजगार हासिल होगा|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: