तेल क्षेत्रों का निजीकरण, केएमएसएस का प्रदर्शन

गुवाहाटी

असम के 15 लघु तेल क्षेत्रों को निजी कंपनियों के हाथों सौंपे जाने की घोषणा के बाद आज केएमएसएस प्रदर्शन पर उतर आया| कृषक मुक्ति संग्राम समिति के नेता अखिल गोगोई और बड़ी संख्या में विरोध प्रदर्शन पर उतरे केएमएसएस के सदस्यों पर काबू पाने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा|

पुलिस द्वारा रोके जाने पर भी कृषक मुक्ति संग्राम समिति के समर्थक तेल और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के केंद्रीय राज्य मंत्री धर्मेंद्र प्रधान के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते रहे| राज्य के तेल क्षेत्रों के निजीकरण के खिलाफ केएमएसएस विरोध प्रदर्शन पर उतरा था| हालांकि बाद में अखिल गोगोई समेत बड़ी संख्या में उनके समर्थकों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया|

इससे पहले तेल और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के केंद्रीय राज्य मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने राज्य के 15 लघु तेल क्षेत्रों का संचालन निजी कंपनियों को सौंपे जाने की घोषणा की थी| केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इस सिलसिले में नीलामी की प्रक्रिया 15 जुलाई से शुरू होगी| वहीँ तेल क्षेत्रों को निजी कंपनी को सौंपने का काम ३१ अक्टूबर से शुरू होगा| केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह कदम राज्य के तेल क्षेत्रों के विकास को सुनिश्चित करने के लिए उठाया गया है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: