पूर्वोत्तर क्षेत्र में फास्ट-ट्रैक रेलवे परियोजनाएँ

गुवाहाटी

पूर्वोत्तर क्षेत्र में बेहतर संपर्क व्यवस्था स्थापित करने के उद्देश्य से रेलवे मंत्रालय असम तथा पूर्वोत्तर में जारी परियोजनाओं को फास्ट-ट्रैक करने जा रही है| अगले सप्ताह से यहाँ रेलवे परियोजनाओं का काम तेज गति से शुरू हो जाएगा| वहीँ सराईघाट में ब्रह्मपुत्र पर दूसरा रेलवे पुल बनाने की मंजूरी शीघ्र ही मिल सकती है|

mos-railwayएक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए केंद्रीय राज्य मंत्री राजेन गोहाईं ने कहा, “डबल रेलवे लाइन का काम होजाई से शुरू होगा| इसकी नींव 12 सितम्बर को मैं और मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल रखेंगे|”

उन्होंने कहा, “चालू महीने में ही बोंगाईगांव से ग्वालपाड़ा होते हुए गुवाहाटी तक डबल रेलवे ट्रैक का काम शुरू हो जाएगा| रंगिया होते हुए बोंगाईगांव से आज्ञाठुरी तक फाइनल लोकेशन सर्वे जारी है और इसके खत्म होते ही यहाँ भी डबल रेलवे ट्रैक का काम शुरू किया जाएगा|”

सराईघाट पर दूसरे रेलवे पुल बनाए जाने के मुद्दे पर गोहाईं ने कहा, “हमें उम्मीद है कि इसी साल दूसरा रेलवे पुल बनाने की मंजूरी मिल जाएगी और अगले साल से यह काम भी शुरू हो जाएगा|” उन्होंने बताया कि तेजपुर से जोड़ने के लिए सिलघाट में भी ब्रह्मपुत्र पर रेलवे पुल निर्माण का कार्य चल रहा है| सलोना-खुम्ताई, शिवसागर-जोरहाट और तेजपुर-सिलघाट सेक्शन में नए रेलवे मार्ग के लिए सर्वेक्षण के कार्य को मंजूरी मिल गई है| इस साल पूर्वोत्तर भारत को केंद्र से विभिन्न रेलवे परियोजनाओं के नाम पर 7,000 करोड़ रुपयों का आवंटन मिला है|

केंद्रीय राज्य मंत्री गोहाईं ने कहा, “ जागीरोड में ‘रेल नीर’ पानी के बॉटलिंग प्लांट की स्थापना के लिए इस बीच जगह तलाशी जा रही है| इसके अलावा क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए नॉर्थईस्ट सफारी ट्रेन चलाने की भी परियोजना हाथ में है| विभिन्न नई ट्रेन सेवाएँ शुरू करने के लिए अनुमोदन मिल चुका है जिनमें तिनसुकिया से गुवाहाटी और नाहरलागुन से गुवाहाटी तक दो शताब्दी ट्रेन भी शामिल है|”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: