NORTHEAST

Northeast की – ख़बरें फ़टाफ़ट 02nd April 2017

दलाई लामा का अरुणाचल दौरा- चीन को रिजीजू का करारा जवाबगुवाहाटी –  दलाईलामा ने कहा मैं भारत का बेटा हूँ 

दलाईलामा ने गुवाहाटी विश्वविद्यालय के सभागार में कहा कि पिछले कुछ साल से मैंने खुद को भारत का बेटा कहना शुरू कर दिया है। कुछ साल पहले चीनी मीडिया के कुछ लोगों ने मुझसे आकर पूछा कि मैंने ऎसा क्यों कहा। मैंने उनसे कहा कि मेरे मस्तिष्क का हर हिस्सा नालंदा के विचारों से भरा है। उन्होंने कहा, शारीरिक रूप से पिछले 50 साल से अधिक समय से मेरा शरीर भारत की दाल और चपाती पर चल रहा है। इसलिए मैं शारीरिक और मानसिक रूप से भारतीय हूं। धर्मनिरपेक्षता की बात करते हुए दलाई लामा ने कहा, मैं पूरी तरह सांप्रदायिक सद्भाव को बढाने के लिए प्रतिबद्ध हूं। समझने की बात है कि कुछ शरारती तत्व समस्या खडी करते हैं।

मिजोरम – भारी बरसात से 30 घरों को पहुंचा नुकसान

पूरे पूर्वोत्तर क्षेत्र में बरसात का प्रकोप जारी है| भारी बरसात के साथ ही ओले गिरने से असम-मिजोरम सीमावर्ती गाँव वैरेंगते में 30 घरों को नुकसान पहुंचा है| हालांकि घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है| पिछले कुछ दिनों से लगातार जारी बरसात और तूफान की वजह से पेड़ और बिजली के खंभे उखड़ जाने से मिजोरम के कई इलाके अंधकार में डूब गए है| वहीँ पेड़ों के टूटकर गिरने से सड़कें भी जाम हो गई है|

मणिपुर – नगालैंड में वाहनों की आवाजाही को लेकर करार

मणिपुर के मुख्यमंत्री एन. बिरेन सिंह ने कहा है कि नगालैंड में मणिपुर के वाहन आजादी से घूम सके इसके लिए वे नगालैंड और असम के मुख्यमंत्रियों से मिलेंगे| उन्होंने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री की उपस्थिति में वे गुवाहाटी में असम और नगालैंड के मुख्यमंत्रियों से मिलेंगे ताकि गृह मंत्री के सामने नागालैंड के साथ इस मुद्दे को लेकर एक करार पर हस्ताक्षर कर सके| नगालैंड में मणिपुर के वाहनों के साथ होने अत्याचारों को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री एन.बिरेन सिंह ने यह फैसला लिया है| उन्होंने परिवहन संघ से अपील की कि वे राष्ट्रीय राजमार्ग 2 से आवाजाही करे चूँकि वहां कोई नाकेबंदी नहीं है|

इंफाल – पहाड़ों में भू-स्खलन

पूर्वोत्तर क्षेत्र में भारी बरसात की वजह से किसानों को सबसे अधिक नुकसान पहुंचा है| शनिवार की रात भारी बरसात के बाद हालांकि रविवार को कुछ समय के लिए बरसात रुक गई| लेकिन बरसात की वजह से हुए नुकसान की देख-रेख के लिए मणिपुर सरकार द्वारा गठित एक्शन कमिटी अभी तक हरकत में नहीं आई है| इस बीच बरसात की वजह से पहाड़ों में भू-स्खलन की घटनाएं हुई है| इंफाल शहर की मुख्य सड़क जो सेंट्रल मेडिकल कॉलेज और रिम्स जैसे दो महत्वपूर्ण अस्पतालों तक जाती है, भूस्खलन की वजह से बंद पड़ गई है|

मणिपुर – नगालैंड में वाहनों की आवाजाही को लेकर करार

मणिपुर के मुख्यमंत्री एन. बिरेन सिंह ने कहा है कि नगालैंड में मणिपुर के वाहन आजादी से घूम सके इसके लिए वे नगालैंड और असम के मुख्यमंत्रियों से मिलेंगे| उन्होंने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री की उपस्थिति में वे गुवाहाटी में असम और नगालैंड के मुख्यमंत्रियों से मिलेंगे ताकि गृह मंत्री के सामने नागालैंड के साथ इस मुद्दे को लेकर एक करार पर हस्ताक्षर कर सके| नगालैंड में मणिपुर के वाहनों के साथ होने अत्याचारों को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री एन.बिरेन सिंह ने यह फैसला लिया है| उन्होंने परिवहन संघ से अपील की कि वे राष्ट्रीय राजमार्ग 2 से आवाजाही करे चूँकि वहां कोई नाकेबंदी नहीं है|

नागालैंड- स्वच्छता मिशन में अनोखा सहयोग

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान में देश का हर नागरिक इन दिनों योगदान दे रहा है। इसी कड़ी में नगालैंड का एक पुलिस कांस्टेबल स्वच्छता मिशन में अपना अनोखा सहयोग देकर चर्चा का विषय बन चुका है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक निंगुपे मारू नगालैंड पुलिस में फ़ेक जिला मुख्यालय के ब्लॉक हेडक्वाटर पीफुट्सरो में तैनात हैं। मारू बीते आठ दिनों से अपनी मारुती वैन से शहर का कचरा उठा रहे हैं। 28 साल के मारू यह काम स्वेच्छा से कर रहे हैं। पुलिस मुख्यालय में लंबी और अनियमित ड्यूटी के बावजूद मारू स्वच्छता मिशन में अपनी भागीदारी निभा रहे हैं।

गुवाहाटी – काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान एक सफल संरक्षण पहल

असम सरकार ने काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान को 20 वीं शताब्दी में उपमहाद्वीप में सबसे सफल संरक्षण पहल के रूप में माना है| इस उद्यान में जहाँ सन 1905 में लगभग 40 गैंडे थे अब वहां 2,400 से अधिक गैंडे है| दुनिया में एक-सींग वाले गैंडों की आबादी का दो-तिहाई भाग यहाँ मौजूद हैं। हालांकि गैंडों की संख्या की वजह से 858 वर्ग किलोमीटर तक फैला काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान आज सुर्ख़ियों में नहीं है| बल्कि बीबीसी के एक वृत्तचित्र किलिंग फॉर कन्ज़र्वेशन की वजह से भी यह उद्यान सुर्ख़ियों में छाया हुआ है| हालांकि राज्य सरकार की शिकायत के बाद National Tiger Conservation Authority (NTCA) ने बीबीसी को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है|

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close